Video: अवैध खनन व परिवहन के खिलाफ प्रशासन व खनन विभाग पिथौरागढ़ की कार्यवाही

दीपक जोशी की रिपोर्ट:
पिथौरागढ़: जनपद के झूलाघाट क्षेत्र में कानड़ी व अन्य स्थानों में समय समय पर अवैध खनन कर परिवहन की जानकारी प्राप्त हो रही थी, जिसमें आज राजस्व उपनिरीक्षक मजिरकाण्डा गोपाल डिनीया व खान अधिकारी, पिथौरागढ़ प्रदीप कुमार द्वारा औचक निरीक्षण किया गया, जिसमें सर्वप्रथम झूलाघाट के कानड़ी क्षेत्र का निरीक्षण किया गया जिसमें मौके पर कोई वाहन नही मिला, परन्तु मोटर मार्ग पर लगभग 20 घन मीटर रेता जमा किया गया था, जिसमें उस रेत को पहाड़ी ढाल पर फेंककर नष्ट किया गया तथा उपर से मिट्टी खोदकर डाल दी गयी, जिससे अवैध कर्ता इसका पुनः प्रयोग नही जा सकेगा।

यह भी पढ़ें: मुख्य सचिव डॉ. एस.एस सन्धु ने जल जीवन मिशन, अमृत योजना, स्वच्छ भारत मिशन तथा नमामि गंगे परियोजनों को लेकर की समीक्षा बैठक, योजनाओं में विकास कार्यों के लिए अवमुक्त धनराशि को तेजी से खर्च करते हुए भौतिक और वित्तिय प्रगति बढ़ाने को दिए निर्देश

अवैध खनन से कई स्थानों पर ढेर लगाये जाने से मोटर मार्ग भी संकरा हो जाता है, जिसे नष्ट किये जाने से मोटर मार्ग भी सही हो गया है। इसी क्रम में झूलाघाट से तालेश्वर मोटर मार्ग पर निकट लोक निर्माण विभाग गेस्ट हाउस के पास जमा 40 घन मीटर रेता भी नष्ट कर फेंक दिया गया है। खान अधिकारी पिथौरागढ़ द्वारा अवगत कराया कि किसी भी स्थिति में किसी भी व्यक्ति को अवैध खनन व परिवहन की खुली छूट प्रदान नही की जायेगी। खान अधिकारी ने बताया कि रात को भी टीम के साथ अवैध परिवहन करने वालों पर कार्यवाही की जायेगी तथा नदी से मोटर मार्ग तक घोड़ों-खच्चरों से लाने वालों को मौके पर ही पकड़ कर नदी में बने गड्ढों को नापकर बराबर बांट दिया जायेगा, क्योंकि मुख्य अवैध कर्ता यंही है। उसके बाद ही पिकपों और टिप्परों से रेता परिवहन किया जाता है, जल्द ही इस कार्य हेतु टीम का गठन किया जा रहा है।
झूलाघाट में अवैध खनन की कार्यवाही में खान अधिकारी, पिथौरागढ़ प्रदीप कुमार, राजस्व उपनिरीक्षक मजिरकाण्डा गोपाल डिनीया और खनन विभाग के कर्मचारी देव सिंग बोनाल व मनोज तिवारी उपस्थित रहें।

यह भी पढ़ें: Video: महिला स्वयं सहायता समूहों को मजबूती दी जाएगी, कोरोना काल में प्रभावित महिला स्वयं सहायता समूहों की सहायता पर सरकार करेगी विचार- मुख्यमंत्री धामी