Video, Nanital: अंग्रेजी शिक्षा मिलने से निर्धन परिवार के बच्चे भी अंग्रेजी भाषा में गुणवत्तापूर्ण शिक्षा कर पाएँगे ग्रहण – शिक्षा मंत्री अरबिंद पांडेय

ललित जोशी की रिपोर्ट;
नैनीताल: जनपद नैनीताल में विद्यालयी शिक्षा, प्रौढ़ शिक्षा, संस्कृत शिक्षा, खेल, युवा कल्याण एवं पंचायती राज मंत्री अरविन्द पाण्डेय ने अटल उत्कृष्ट विद्यालय के रूप में चयनित राजकीय बालिका इंटर कॉलेज रामनगर का विधिवत शुभारंभ किया। साथ ही हरेला महोत्सव पूर्व पौधारोपण भी किया। उन्होने कहा कि अटल उत्कृष्ठ विद्यालयों में केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड से मान्यता प्राप्त कर अंग्रेजी शिक्षा मिलने से निर्धन परिवार के बच्चे भी अंग्रेजी भाषा में गुणवत्तापूर्ण शिक्षा ग्रहण कर पाएंगे।
शिक्षा मंत्री नेे कहा कि प्रदेश में चयनित 190 अटल उत्कृष्ट विद्यालय चयनित हैं, जिनमे शिक्षकों की तैनाती हेतु शिक्षकों की स्क्रीनिंग भी कर दी गई है। जिससे अटल उत्कृष्ट विद्यालयों को योग्य शिक्षक प्राप्त होंगे। शिक्षा मंत्री ने कहा कि उत्तराखंड बोर्ड द्वारा संचालित विद्यालयों को सीबीएसई बोर्ड द्वारा मान्यता मिलने से विद्यालय में अब स्मार्ट क्लासेस के अलावा अन्य अत्याधुनिक पद्धति से जुड़ी शिक्षा प्रदान की जाएगी।

यह भी पढ़ें: Video: मुख्यमंत्री धामी ने केन्द्रीय रेल मंत्री अश्विनी वैष्णव से की भेंट, उत्तराखण्ड से संबंधित विभिन्न इन रेल परियोजनाओं पर किया विस्तार से चर्चा

अरविंद पांडे ने कहा कि प्रदेश में चयनित 190 अटल उत्कृष्ठ विद्यालय निर्धन परिवार के बच्चों के सर्वांगीण विकास में महत्वपूर्ण सिद्व होंगे। बच्चों को प्रशिक्षित शिक्षकों की ओर से उच्च गुणवत्तायुक्त शिक्षा मिलेगी, जिससे उत्तराखंड में शिक्षा के नए उच्च मापदंड स्थापित होंगे। प्रदेश सरकार, राज्य में सभी को समान अवसर प्रदान करने, सबको अच्छी शिक्षा प्रदान करने, शैक्षणिक कार्यों में उत्कृष्टता लाने, शैक्षिक गुणवत्ता बढ़ाने और शिक्षा के उन्नयन के लिए कार्य कर रही है। उन्होंने कहा कि जो माध्यमिक स्कूल सीबीएसई मानकों को पूरा करते हैं, उनको द्वितीय चरण में अटल उत्कृष्ट विद्यालय के रूप में लेंगे।
कार्यक्रम में विधायक दीवान सिह बिष्ट, पूर्व सांसद बलराज पासी, भगीरथ लाल चौधरी, राकेश नैनवाल, दिनेश मेहरा, इंदर रावत, भावना भटट, अशोक गुप्ता, मनोज रावत, पूरन नैनवाल,मुख्य शिक्षा अधिकारी केके गुप्ता, सचिव उत्तराखण्ड बोर्ड डा नीता तिवारी, अपर सचिव शिक्षा बोर्ड बृजमोहन रावत, प्रधानाचार्या केडी माथुर, उपजिलाधिकारी विजय नाथ शुक्ल, सीओ बीएस भाकुनी के अलावा गणमान्य मौजूद थे।

यह भी पढ़ें: Uttarakhand: पर्वतीय क्षेत्रों में गूल बनाने के बजाए स्प्रिंकल या ड्रिप आधारित सिंचाई योजनाओं पर अधिक फोकस किया जाए-मुख्य सचिव डाॅ. एस.एस. सन्धु

यह भी पढ़ें: उत्तराखंड कांवड़ यात्रा: हरिद्वार में प्रवेश करते ही कांवड़ी होंगे 14 दिन के लिए क्वारनटाईन – पुलिस महानिदेशक उत्तराखण्ड, अशोक कुमार