आयुष्मान योजना का लाभ दिलाने को शासन में दी मोर्चा ने दस्तक, 250 करोड़ खर्च होने के बाद भी इलाज से लोग वंचित, सरकार की योजना को अधिकांश अस्पताल लगा रहे पलीता! नेगी

देहरादून: अटल आयुष्मान योजना का शत-प्रतिशत लाभ जरूरतमंदों को दिलाए जाने, कुछ सूचीबद्ध अस्पतालों द्वारा ऑपरेशन के नाम पर अतिरिक्त शुल्क वसूलने व कुछ अस्पतालों द्वारा इलाज हेतु मना करने के मामले को लेकर जन संघर्ष मोर्चा अध्यक्ष एवं जीएमवीएन के पूर्व उपाध्यक्ष रघुनाथ सिंह नेगी ने सचिव, स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण अमित नेगी से मुलाकात कर ज्ञापन सौंपा |सचिव, नेगी ने उक्त योजना का कड़ाई से पालन किए जाने हेतु संबंधित अधिकारियों को मानिटरिंग करने व शिकायतों के निस्तारण हेतु पुख्ता कदम उठाने की निर्देश दिए।
नेगी ने कहा कि आयुष्मान योजना बहुत ही कल्याणकारी योजना है, लेकिन कुछ सूचीबद्ध अस्पताल मनमानी के तहत मरीजों को इलाज करने से मना कर देते हैं तथा ऑपरेशन आदि के नाम पर निर्धारित धनराशि के बावजूद अलग से मोटी रकम की मांग करते हैं, जिस कारण आमजन को पूरा लाभ नहीं मिल पा रहा है। नेगी ने कहा कि प्रदेशभर के सूचीबद्ध अस्पतालों को 13 जनवरी 2021 तक लगभग 187.92 करोड रुपए आवंटित किया जा चुका है तथा आज तक लगभग 250 करोड रुपए अस्पतालों को आवंटित हो चुका है, लेकिन समय- समय पर अस्पतालों की मानिटरिंग न होने के कारण कुछ जरूरतमंद आज भी इलाज से वंचित हैं। नेगी ने कहा कि मोर्चा जरूरतमंदों को न्याय दिलाने के लिए हर वक्त प्रतिबद्ध है।