जल निकायों के जीर्णोद्धार को लेकर मुख्य सचिव की अध्यक्षता में हुई बैठक, दिए यह महत्तपूर्ण दिशा निर्देश

देहरादून 04 दिसंबर, 2020: मुख्य सचिव ओमप्रकाश की अध्यक्षता में शुक्रवार को सचिवालय में जल निकायों के जीर्णोद्धार के सम्बन्ध में बैठक सम्पन्न हुयी। मुख्य सचिव ओमप्रकाश ने कहा कि वॉटरबॉडीज को पुनर्जीवीकरण को प्राथमिकता पर लेते हुए तेजी से कार्य किया जाए।
मुख्य सचिव ने कहा कि जहां एक ओर ग्राउंड वाटर लेवल में सुधार होगा, वहीं दूसरी ओर रोजगार के साधन भी उपलब्ध होंगे। उन्होंने कहा कि फॉरेस्ट लैण्ड के लिए मुख्य कार्यकारी अधिकारी, कैम्पा एवं राजस्व भूमि हेतु आयुक्त, ग्रामीण विकास को नोडल आधिकारी बनाया जाए। इसके शीघ्र आदेश जारी किए जाएं। मुख्य सचिव ने कहा कि जिला स्तर पर सीडीओ को समन्वय अधिकारी के रूप में रखते हुए एडीएम एवं डीएफओ की समिति बनायी जाए।
मुख्य सचिव ने कहा कि वर्ल्ड वाइड फण्ड फॉर नेचर (WWF) एवं यूसैक अहमदाबाद (USAC Ahmedabad) द्वारा चिन्हित किए गए वेटलैण्ड्स की ग्राउण्ड ट्रुथिंग (Ground Truthing) शीघ्र करवा ली जाए। इन वेटलैण्ड्स की पेयजल विभाग के माध्यम से प्राथमिकताएं तय करवाई जाएं। उन्होंने कहा कि इस सम्बन्ध में ब्लॉक स्तर से कराए जाने वाले कार्यों का थर्ड पार्टी टैक्निकल ऑडिट अवश्य कराया जाए। बैठक में अपर मुख्य सचिव मनीषा पंवार एवं सचिव राजस्व सुशील कुमार सहित अन्य उच्चाधिकारी उपस्थित थे।
यह भी पढ़ें: उत्तराखंड में आज 618 नए कोविड-19 मरीज़ों की पुष्टि, 560 हुए स्वास्थ्य, 10 की मौत