झण्डे जी मेला प्रबन्धन समिति ने शुरू की मेला आयोजन की तैयारियां, देखें कौन और किस दिन चढ़ाया जायेगा दर्शनी गिलाफ

देहरादून: इस बार का ऐतिहासिक झण्डे जी मेला पंचमी तिथि 2 अप्रैल 2021 से मनाया जाएगा। झण्डे जी के आरोहण व मेले के आयोजन को लेकर दरबार साहिब के महंत देवेन्द्र दास ने तैयारियों का जायजा लिया व मेला प्रबन्धन से जुड़े अधिकारियों को आवश्यक दिशा निर्देश जारी किये। महाराज ने अपने संदेश में सभी संगतों व श्रद्धालुओं को कोरोना वायरस के प्रति बचाव की एडवाइजरी जारी की है। सभी संगतों व श्रद्धालुओं का आह्वान किया कि झण्डे जी मेले में शामिल होने के दौरान भारत सरकार की ओर से जारी गाइडलाइन का पूरी तरह पालन करें व मेले में शामिल होने के दौरान संक्रमण से बचाव रखें।
काबिलेगौर है कि दून के संस्थापक गुरु राम राय के जन्मदिवस के रूप में हर साल दरबार साहिब देहरादून में झण्डे जी मेले का आयोजन किया जाता है। गुरु राम राय का जन्म पंजाब के कीरतपुर (जिला होशियारपुर) में वर्ष 1646 को (होली के पाॅंचवें दिन चैत्रवदी पंचमी को) हुआ था, तब से हर साल संगतों द्वारा देहरादून में होली के पांचवें दिन (चैत्रवदी पंचमी को) ऐतिहासिक झण्डे जी मेले का आयोजन हर्षाल्लास व भक्तिभाव के साथ किया जाता है।
इस साल जसवीर सिंह पुत्र सुरजीत सिंह, जैलसिंह नगर, रोपड़, पंजाब से झण्डे जी पर दर्शनी गिलाफ चढ़ाने का सौभाग्य प्राप्त हुआ है।  दरबार साहिब में आयोजित होने वाले झण्डे जी मेले में पुण्य अर्जित करने के लिए हर साल देश विदेश से लाखों की संख्या में संगतें देहरादून पहुंचती हैं। इस बारे झण्डे जी आरोहण व मेले के आयोजन को लेकर मेला प्रबन्धन ने आवश्यक तैयारियां शुरू कर दी हैं।
मेला अधिकारी के0सी0 जुयाल ने जानकारी दी कि मेला आयोजन को लेकर संगतों व दूनवासिचयों में हर वर्ष की भांति हर्षाल्लास का माहौल है। मेला आयोजन को लेकर तय कार्यक्रम के अनुसार तैयारियां की जा रही हैं।