बागेश्वर: निश्चित किया जाय कि समस्त राजस्व वाद निर्धारित समयावधि के अंतर्गत निस्तारित हों-जिलाधिकारी विनीत कुमार

दीपक जोशी की  रिपोर्ट;
बागेश्वर 07 सिसंबर, 2020: जिलाधिकारी विनीत कुमार की अध्यक्षता में जिला कार्यालय में मासिक बैठक आयोजित की गयी, जिसमें राजस्व एवं पुलिस क्षेत्रों के अन्तर्गत अपराधों, सत्र न्यायालयों एवं विभिन्न न्यायालयों में लम्बित वादों, राजस्व वादों के निस्तारण, राजस्व वसूली, पेंशन प्रकरण समेत राजस्व विभाग के अन्तर्गत विभिन्न अधिष्ठानों के तहत संपन्न होने वाले कार्यों के साथ-साथ खाद्य एवं नागरिक आपूर्ति, आबकारी विभाग तथा खनन विभाग आदि से संबंधित कार्यों की प्रगति की गहनता से समीक्षा की। बैठक में जिलाधिकारी ने सत्र न्यायालय व उप जिलाधिकारी न्यायालयों में लम्बित प्रकरणों को प्राथमिकता के साथ निपटाने के लिए अधिवक्ताओं को निर्देश देते हुए कहा कि वादों के निराकरण के लिए प्रभावी पैरवी करते हुए गवाही शतप्रतिशत करवायें। उन्होंने कहा कि यह सुनिश्चित किया जाय कि समस्त राजस्व वाद निर्धारित समयावधि के अंतर्गत निस्तारित हों। उन्होंने उप जिलाधिकारियों को निर्देश दिये है कि राजस्व क्षेत्र में हो रहे अपराधों को गम्भीरता से लेते हुए अपराधी के विरूद्ध कड़ी कानूनी कार्यवाही करना सुनिश्चित करें तथा दोषी को कडी से कडी सजा दिलाना सुनिश्चित करें।
उन्होने सभी उपजिलाधिकारियों एवं तहसीलदारों को निर्देश दियें कि जो भी राजस्व वाद लंबित हैं उनका प्राथमिकता से निस्तारण करना सुनिश्चित करें। आबकारी विभाग की समीक्षा करते हुए जिलाधिकारी ने निर्देश दिये है कि जनपद में अवैध शराब के विरूद्ध छापेमारी की कार्यवाही निरंतर करना सुनिश्चित करें। इसमें किसी भी प्रकार की लापरवाही नहीं जानी चाहिए, इसके लिए उन्होंने पुलिस, आबकारी एवं राजस्व तीनों विभागों द्वारा संयुक्त रूप से चैकिंग अभियान चलाने को कहा। सम्भागीय परिवहन की समीक्षा करते हुए जिलाधिकारी ने सहायक सम्भागीय परिवहन अधिकारी को निर्देश दिये है कि ओवर लोडिंग, तेज रफ्तार, सीट बैल्ट न पहनने, मोबाइल फोन पर बात करने, शराब पीकर वाहन चलाने वाले वाहन चालकों के विरूद्ध कड़ी से कड़ी कार्यवाही करने के निर्देश दिये।
सहायक सम्भागीय परिवहन अधिकारी ने अवगत कराया कि महा नवंबर, 2020 में कुल 130 चालान किये गये हैं। राज्यकर की समीक्षा करते हुए जिलाधिकारी ने निर्देश दिये है कि जिन व्यापारियों द्वारा अपना पंजीकरण जीएसटी में नहीं किया है इस पर विशेष ध्यान देने की जरूरत है। तथा जिन व्यापारियों से आयकर की वसूली की जानी है उनसे तत्काल वसूली कराना सुनिश्चित करें। पूर्ति विभाग की समीक्षा करते हुए जिलाधिकारी ने दूरस्थ क्षेत्रो में खाद्यान भण्डारण आदि के संबंध में जिला पूर्ति अधिकारी से जानकारी प्राप्त की, जिला पूर्ति अधिकारी ने जिलाधिकारी को अवगत कराया कि जनपद में कुल 60,690 राशन कार्ड है, जिसमें से 38603 कार्ड तैयार कियें गयें हैं जिन्हें ग्राम विकास अधिकारियों के माध्यम से वितरण हेतु प्रेषित कियें जा चुके हैं। तथा 99 प्रतिशत कार्ड धारकों का वैरिफाइ करते हुए आधार से लिंक कर दिया गया है। उन्होने कहा कि सभी गोदामों में माह नवम्बर, 2020 का राशन वितररित किया गया हैं, तथा दिसंबर, 2020 का राशन वितरण की कार्यवाही की जा रही है।
जिलाधिकारी ने पूर्ति अधिकारी को निर्देश दिये कि जनपद में निरन्तर घरेलू सिंलेडर का उपयोग व्यपसायिक गतिविधियों में न हो इसके लिए निरन्तर छापेमारी की कार्यवाही की जाय तथा जनपद में संचालित पेट्रोप पंपों में भी निरन्तर चैंकिंग अभियान के साथ-साथ सैंपलिंग भी की जाय। जिलाधिकारी ने तहसीलवार मुख्य देयकों एवं विविध देयकों की समीक्षा के दौरान सभी उप जिलाधिकारियों एवं तहसीलदारों को निर्देश दिये है कि जिन तहसीलों ने राजस्व वसूली कम की है, वह राजस्व वसूली में तेजी लायें तथा बडे बकायेदारों के विरूद्ध त्वरित कार्यवाही सुनिश्चित की जाय। उन्होंने तहसीलवार बनाये जाने वाले प्रमाण पत्रों की भी समीक्षा की कहा कि सभी तहसीलों से जो भी प्रमाण पत्र निर्गत किये जा रहे है, उन प्रमाण पत्रों को समय से बनाकर आवेदनकर्ता को उपलब्ध कराना सुनिश्चित करें। प्रमाण पत्रों को जारी करने में किसी प्रकार की कोइ लापरवाही न बरती जाय।
बैठक में जिलाधिकारी ने सूचना का अधिकार अधिनियम एवं सेवा का अधिकार के तहत प्राप्त आवेदन पत्रों का निर्धारित समय सीमा के अन्तर्गत निराकरण करना सुनिश्चित करें। उन्होने सभी पटल सहायकों को निर्देश देते हुए कहा कि जिला कार्यालय को जो भी शिकायतें व प्रकरण प्राप्त होते हैं एवं मुख्यमंत्री कार्यालय से प्राप्त प्रकरणों पर गंभीरता से कार्यवाही करना सुनिश्चित करें तथा प्राप्त संदर्भो को नियमित रूप से निस्तारण की कार्यवाही करना सुनिश्चित करें। इसमें किसी प्रकार की लापरवाही कतइ बर्दाश्त नहीं की जायेगी। लापरवाही बरती जानी पर संबंधित के विरूद्ध आवश्यक कार्रवाइ सुनिश्चित की जायेगी।
जिलाधिकारी ने खाद्य सुरक्षा विभाग की समीक्षा करते हुए खाद्य सुरक्षा अधिकारी को निर्देश दिये है कि अधिक से अधिक दुकानों में सैंपलिंग की कार्यवाही करते हुए उत्पादों की गुणवत्ता को नियमित रूप से निरीक्षण कर उनकी जॉच करें। जिलाधिकारी ने कहा कि नव वर्ष के दृष्टिगत खाद्य पदार्थो पर मिलावट ने हो, तथा मिलावट करने वालो को पकड़ने के लिए अधिक से अधिक छापेमारी कर सैंपल लिये जाय एवं जांच करवाकर उचित कार्रवाइ सुनिश्चित की जाय। शहरी विकास की समीक्षा करते हुए जिलाधिकारी ने अधिशासी अधिकारी नगर पालिका बागेश्वर को निर्देशित करते हुए कहा कि अभी तक जिन पात्र लाभार्थियों को प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत लाभ नहीं मिल पाया हैं उन पात्र लाभार्थियों को ततकाल लाभ पहुचाना सुनिश्चित करें तथा नगर पालिका द्वारा वसूली की धीमी प्रगति पर जिलाधिकारी द्वारा नाराजगी व्यक्त करते हुए अधि0अधिकारी नगर पालिका को वसूली में और तेजी लाने के निर्देश दियें तथा नियमति रूप से भी निरीक्षण करने के निर्देश दियें।
बैठक में प्रभारी अपर उपजिलाधिकारी राकेश चन्द्र तिवारी, उपजिलाधिकारी बागेश्वर योगेन्द्र सिंह, गरूड जयवर्द्धन शर्मा, कपकोअ प्रमोद कुमार, पुलिस उपाधीक्षक महेश जोशी, सहायक परिवहन अधिकारी कृष्ण चन्द्र पलडिया, राज्य कर विभाग से कुशल सिंह रौतेला, अभिहित अधिकारी अशोक कुमार फुलेरिया, जिला पूर्ति अधिकारी अरूण वर्मा, अधि0 अधिकारी नगर पालिका राजेदव जायसी, प्रभारी ज्येष्ठ अभियोजना अधिकारी दाऊद सिद्दकी शासकीय अधिवक्ता बसन्त बल्लभ पाठक, जी0बी0 उपाध्याय, मुख्य प्रशासनिक अधिकारी रमेश राम आर्या, डी0एस0देवडी, तहसीलदार नवाजिश खलीक, नायब तहसीलदार पूजा शर्मा, तितिक्षा जोशी सहित समस्त पटल सहायक मौजूद थे।