साइबर बुलेटिन: 08 मार्च 2021, साइबर क्राइम पुलिस देहरादून द्वारा जारी, संस्कृत शिक्षा परिषद उत्तराखण्ड देहरादून की कथित रूप से फर्जी वेबसाइट बनाने और फर्जी वैबसाइट के माध्यम से अनेक प्रकार के शुल्क के नाम पर छात्र-छात्राओं से धोखाधडी

देहरादून: स्पेशल टास्क फोर्स उत्तराखंड के अंतर्गत साइबर क्राइम पुलिस स्टेशन देहरादून द्वारा आज दिनांक 08 मार्च 2021 की साइबर बुलेटिन: 
  • संस्कृत शिक्षा परिषद उत्तराखण्ड देहरादून की कथित रूप से फर्जी वेबसाइट बनाने और फर्जी वैबसाइट के माध्यम से परीक्षा शुल्क, प्राईवेट अभ्यार्थियों के शुल्क, पूरक परीक्षा शुल्क, डुप्लीकेट-सार्टिफिकेट, अंकपत्र, माइग्रेशन, पंजीकरण कार्ड, पुनः मूल्याकंन आदि के लिये शुल्क के नाम पर छात्र-छात्राओं से धोखाधडी के करने के सम्बन्ध मे संस्कृत शिक्षा परिषद उत्तराखण्ड द्वारा साईबर क्राईम पुलिस स्टेशन पर प्रार्थना पत्र प्रेषित किया गया। जिसकी जांच उ0नि0 राजेश ध्यान द्वारा की गयी। प्रकरण में सम्बन्धित वेबसाईट संचालित करने वाली कम्पनी से सम्पर्क कर विवरण प्राप्त किया गया। तकनीकी संसाधनों का प्रयोग करते हुये उक्त फर्जी वेबसाईट बनाने वाले व्यक्ति के सम्बन्ध में जानकारी प्राप्त कर प्रकरण में साईबर थाने पर अभियोग पंजीकृत किया गया है।
  • जनपद देहरादून निवासी व्यक्ति द्वारा थाना साईबर क्राईम पुलिस स्टेशन को एक प्रार्थना पत्र दिया गया जिसमे उनके द्वारा अवगत कराया गया कि उन्हे एक अज्ञात व्यक्ति द्वारा फोन कर स्वयं को बैंक अधिकारी बताकर क्रेडिट कार्ड एक्टिवेट करने की बात कही गयी। जिसपर विश्वास करते हुये शिकायतकर्ता द्वारा अपने क्रेडिट कार्ड की डिटेल एवं ओ0टी0पी0 शेयर किया गया। जिस कारण उनके खाते से 1,05,367/- रुपये की धोखाधड़ी की गयी।  प्रकरण में थाना साईबर क्राईम पर अभियोग पंजीकृत किया गया है।
  • जनपद देहरादून निवासी व्यक्ति थाना साईबर क्राईम पुलिस स्टेशन को एक प्रार्थना पत्र दिया गया जिसमे उनके द्वारा अवगत कराया गया कि उन्हे एक अज्ञात व्यक्ति द्वारा फोन कर अपनी बातों के झांसे में लेकर यू0पी0आई0 के माध्यम से बार कोड स्कैन करने हेतु कहा गया, जिस पर विश्वास करते हुये शिकायतकर्ता द्वारा कोड स्कैन किया गया। जिसके कारण शिकायतकर्ता के खाते से 29000/- रुपये की निकासी हो गयी। जिसकी जांच साईबर क्राईम पुलिस स्टेशन से उ0नि0 हिम्मत सिंह द्वारा की गयी व शिकायतकर्ता से प्राप्त विवरण के आधार पर सम्बन्धित पेटीएम कम्पनी से सम्पर्क किया गया जिसमे ज्ञात हुआ कि शिकायतकर्ता से धानराशि पेटीएम के माध्मय से आगरा उ0प्र0 के खाते मे स्थानान्तरित हुई है, तथा मोबाईल धारक की जानकारी की गई तो उक्त मोबाइल नम्बर धारक आसाम का होना पाया गया। प्रकरण में आवश्यक तकनीकि कार्यवाही करते हुये अग्रिम कार्यवाही हेतु जनपद देहरादून प्रेषित किया गया है।
साईबर सुरक्षा टिप
कभी भी किसी से अपने डेबिट कार्ड/क्रेडिट कार्ड की जानकारी शेयर न करें । कोई भी बैंक या वॉलेट आपको फोन कर आपकी बैंकिग डिटेल नही मांगता है। ध्यान रखे कि अंजान व्यक्ति द्वारा भेजे गये किसी भी पेमेन्ट गेटवे /वॉलेट/मोबाईल एप्लीकेशन पर धनराशि प्राप्त करने हेतु कभी भी न तो QR कोड स्कैन करें, और न ही UPI पिन डालें ऐसा करने से हमेशा धनराशि आपके खाते से ही डेबिट होगी। कस्टमर केयर से बताकर फोन करने वाले व्यक्ति की बातो में न आये और न ही उससे अपने एटीएम/वॉलेट/बैक सम्बन्धी कोई जानकारी सांझा करें।
किसी भी साईबर शिकायत / सुझाव के लिए:
संपर्क: 0135-2655900
email- ccps.deh@uttarakhandpolice.uk.gov.in
फेसबुक – https://www.facebook.com/cyberthanauttarakhand/