साइबर बुलेटिन: दिनांक 11 जनवरी 2021, साइबर क्राइम पुलिस स्टेशन देहरादून द्वारा जारी

देहरादून: स्पेशल टास्क फोर्स उत्तराखंड के अंतर्गत साइबर क्राइम पुलिस स्टेशन देहरादून द्वारा आज दिनांक 11 जनवरी 2021 की साइबर बुलेटिन: 
  • ऋषिकेश, देहरादून निवासी एक व्यक्ति द्वारा साईबर क्राईम पुलिस स्टेशन में शिकायत अंकित की गयी कि उसे किसी अज्ञात व्यक्ति द्वारा फोन कर स्वंय को शिकायतकर्ता का दोस्त बताते हुये तकलीफ में बताकर फोन पे के माध्यम से 25000/- रुपये की मांग की गयी। शिकायतकर्ता द्वारा उस पर विश्वास कर उसे अपना दोस्त जानते हुये रुपये 25000/ फोन पे के माध्यम से भुगतान किये गये। जब दूसरे दिन अपने दोस्त से मिलकर उक्त धनराशि के ट्रासफर की बात की गयी तो उक्त द्वारा उसे कोई फोन न करने के सम्बन्ध अवगत कराया गया। उक्त प्रार्थना पत्र की जांच उ0नि0 निर्मल भट्ट द्वारा की गयी व शिकायतकर्ता से बैक से सम्पर्क किया गया जहाँ से ज्ञात हुआ कि शिकायतकर्ता के खाते से धनराशि मोबाइल फोन के माध्यम से विभन्न पेमेट गेटवे में हस्तान्तरित की गयी है, जिस पर त्वरित कार्यवाही करते हुये सम्बन्धित पेमेन्ट गेटवे के नोडल अधिकारी से पत्राचार किया गया व बैक खाते व खाताधारक का विवरण प्राप्त किया गया। अज्ञात मोबाइल धारक की जानकारी की गयी जिसमे नम्बर असम राज्य का होना पाया गया। प्रकरण अग्रिम कार्यवाही हेतु सम्बन्धित जनपद को पुलिस भेजा जा रहा है।
  • देहरादून जनपद के मोहकमपुर निवासी महिला द्वारा थाना साईबर क्राईम पर शिकायत दर्ज करायी गयी कि आज सुबह उनको फेसबुक मैसेन्जर के माध्यम से मैसेज आया, जो कि उनके दोस्त का था, जिसमें उनके द्वारा उनसे 10,000/- रुपये की मांग फोन पे के माध्यम से की गयी। उनके द्वारा उक्त को अपना दोस्त समझते हुये धनराशि भेज दी गयी। व्यक्ति द्वारा और धनराशि की मांग की गयी जिसपर शक होकर उनके द्वारा अपने उक्त दोस्त से मुलाकात की गयी। उसके द्वारा इस तरह के किसी भी मैसेज से इन्कार किया गया। उक्त प्रार्थना पत्र की जांच उ0नि0 निर्मल भट्ट द्वारा की गयी जिसमे ज्ञात हुआ कि अज्ञात व्यक्ति द्वारा शिकायतकर्ता के दोस्त का फेसबुक खाता है व उनका दोस्त बनकर धनराशि की धोखाधड़ी की गयी व शिकायतकर्ता के बैक से सम्पर्क किया गया जहाँ से ज्ञात हुआ कि शिकायतकर्ता के खाते से धनराशि मोबाइल फोन यूपीआई के माध्यम से पेमेट गेटवे में हस्तान्तरित की गयी है। जिस पर त्वरित कार्यवाही करते हुये सम्बन्धित पेमेन्ट गेटवे के नोडल अधिकारी से पत्राचार किया गया व बैक खाते व खाताधारक का विवरण प्राप्त किया गया। अज्ञात मोबाइल धारक की जानकारी की गयी जिसमे उक्त नम्बर उत्तर प्रदेश का होना पाया गया। प्रकरण अग्रिम कार्यवाही हेतु सम्बन्धित जनपद को भेजा जा रहा है ।
  • देहरादून निवासी एक  व्यक्ति द्वारा साईबर क्राईम पुलिस स्टेशन में शिकायत अंकित की गयी कि उनके द्वारा फोन पे एप्प को प्रयोग ऑनलाईन खरीददारी एँव धनराशि हस्तान्तरण करने के के लिये किया जाता है। एक अज्ञात व्यक्ति द्वारा उन्हे फोन तक स्वंय को फोन पे कस्टमर केयर से बताते हुये कहा गया कि आपके फोन पे एप्प पर कैशबैक को खाते में जमा किया जाना है, तथा कैश बैक चैक करने की बात कहते हुये धनराशि को खाते से जोडने का तरीका बताते हुये लिंक भेजा गया जिस पर शिकायतकर्ता द्वारा लिंक पर क्लिक करते ही उसके खाते से रुपये 15000/- धोखाधडी से निकाल लिये गये। उक्त प्रार्थना पत्र की जांच उ0नि0 निर्मल भट्ट द्वारा की गयी जिसमे ज्ञात हुआ कि अज्ञात व्यक्ति द्वारा शिकायतकर्ता के दोस्त का फेसबुक खाता है व उनका दोस्त बनकर धनराशि की धोखाधड़ी की गयी। शिकायतकर्ता के बैक से सम्पर्क किया गया जहाँ ज्ञात हुआ कि शिकायतकर्ता के खाते से धनराशि मोबाइल फोन यूपीआई के माध्यम से पेमेट गेटवे में हस्तान्तरित की गयी है, जिस पर त्वरित कार्यवाही करते हुये सम्बन्धित पेमेन्ट गेटवे के नोडल अधिकारी से पत्राचार किया गया व बैक खाते व खाताधारक का विवरण प्राप्त किया गया। अज्ञात मोबाइल धारक की जानकारी की गयी जिसमे उक्त नम्बर मद्रास का होना पाया गया। प्रकरण अग्रिम कार्यवाही हेतु सम्बन्धित जनपद को भेजा जा रहा है ।
  • डोईवाला देहरादून निवासी एक  महिला द्वारा साईबर क्राईम पुलिस स्टेशन में शिकायत अंकित की गयी कि उनकी जान पहचना टिक-टॉक एप्प के माध्यम से एक व्यक्ति से पहचान हुयी। और फिर उन दोनो के मध्य व्हटसप के माध्यम से बाते होने लगी व उक्त व्यक्ति द्वारा शिकायतकर्ता को झांसे मे लेकर उसकी कुछ आपत्तिजनक फोटो व्हटसप के माध्यम से प्राप्त कर ली गयी तथा उसके द्वारा शिकायतकर्ता को उक्त फोटो को दिखाकर डराने व धमकाने लगा तथा उक्त व्यक्ति द्वारा एक फर्जी फेसबुक एकाउन्ट बनाकर महिला की आपत्तिजनक फोटो उसमें डाल दी गयी। उक्त प्रार्थना पत्र की जांच उ0नि0 निर्मल भट्ट द्वारा की गयी। अज्ञात मोबाइल धारक की जानकारी की गयी जिसमे उक्त नम्बर गुजरात का होना पाया गया। प्रकरण अग्रिम कार्यवाही हेतु सम्बन्धित जनपद को भेजा जा रहा है।
साईबर सुरक्षा टिप
ध्यान रखे कि अंजान व्यक्ति द्वारा भेजे गये किसी भी पेमेन्ट गेटवे /वॉलेट/मोबाईल एप्लीकेशन पर धनराशि प्राप्त करने हेतु कभी भी न तो QR कोड स्कैन करें, और न ही UPI पिन डालें ऐसा करने से हमेशा धनराशि आपके खाते से ही डेबिट होगी। कस्टमर केयर से बताकर फोन करने वाले व्यक्ति की बातो में न आये और न ही उसे अपने वॉलेट/बैक सम्बन्धी को जानकारी साझा करें। ऑनलाईन प्लेटफार्म पर खरीदारी या सामान बेचते वक्त द्वितीय पार्टी में तत्काल विश्वास ना करें। सामान को भौतिक रुप से देखने व विक्रेता/क्रेता से व्यक्तिगत रुप में मिलकर ही भुगतान करें ।
किसी भी अंजान व्यक्ति से फेसबुक/सोशल साइट पर दोस्ती न करें और न ही उसके दोस्ती के प्रस्ताव को स्वीकार करें।
किसी भी साईबर शिकायत / सुझाव के लिए–
संपर्क: 0135-2655900
email- ccps.deh@uttarakhandpolice.uk.gov.in
फेसबुक – https://www.facebook.com/cyberthanauttarakhand/