साइबर बुलेटिन: दिनांक 10 जनवरी 2021, साइबर क्राइम पुलिस स्टेशन देहरादून द्वारा जारी

देहरादून: स्पेशल टास्क फोर्स उत्तराखंड के अंतर्गत साइबर क्राइम पुलिस स्टेशन देहरादून द्वारा आज दिनांक 10 जनवरी 2021 की साइबर बुलेटिन: 
  • राघव विहार देहरादून निवासी एक व्यक्ति द्वारा साईबर क्राईम पुलिस स्टेशन में शिकायत अंकित की गई कि उनके द्वारा ऑनलाईन  फोन खऱीदने के लिए एप्पल कस्टमर केयर नम्बर गूगल मे सर्च किया गया जहां से प्राप्त नम्बर से सम्पर्क किया गया तथा उक्त नम्बर द्वारा शिकायतकर्ता से मांगी गई खाता सम्बन्धी सम्पूर्ण डिटेल/जानकारी शिकायतकर्ता द्वारा अज्ञात व्यकित को दे दी गई, जिसके तुरन्त बाद ही शिकायतकर्ता के खाते से 32,000/-रु0 की धनराशि अज्ञात व्यक्ति द्वारा तत्काल निकाल दी गई। उक्त प्रार्थना पत्र की जांच उ0नि0 कुलदीप टम्टा द्वारा की गई व शिकायतकर्ता से बैक से सम्पर्क किया गया जहाँ से पुलिस को ज्ञात हुआ कि शिकायतकर्ता के खाते से धनराशि पेटीएम एकाउट मे जाना पाया गया है, जो कि उडीसा राज्य का होना पाया गया, जिसे डेविट फ्रीज कराया गया है।
  • अपर तुनवाला देहरादून निवासी एक व्यक्ति द्वारा साईबर क्राईम पुलिस स्टेशन में शिकायत अंकित की गई जिसमे उनके द्वारा रेलवे टिकट कैसिंल कराया गया था, जिसका पैसा वापस आना था। उक्त सम्बन्ध मे आवेदक ने आईआऱसीटीसी कस्टमर केयर नम्बर गूगल से सर्च किया गया, जहां से प्राप्त नम्बर से सम्पर्क किया गया तथा उक्त अज्ञात नम्बर द्वारा शिकायतकर्ता से खाते सम्बन्धी जानकारी व ओटीपी मांगी गई। शिकायतकर्ता द्वारा जानकारी तुरन्त दे दी गई जिसके तुरन्त बाद ही शिकायतकर्ता के खाते से 50,000/-रु0 की धनराशि अज्ञात व्यक्ति द्वारा तत्काल निकाल दी गई।  उक्त प्रार्थना पत्र की जांच उ0नि0 कुलदीप टम्टा द्वारा की गई व शिकायतकर्ता के बैक से सम्पर्क किया गया जहाँ से ज्ञात हुआ कि शिकायतकर्ता के खाते से धनराशि पेटीएम एकाउट मे गये है, जो कि उत्तरप्रदेश राज्य का होना पाया गया। प्रकरण में अभियोग पंजीकृत किया गया है।
  • धर्मपुर  देहरादून निवासी एक व्यक्ति द्वारा साईबर क्राईम पुलिस स्टेशन मे एक शिकायत अंकित की गईजिसमे उनके द्वारा ओएलएक्स मे मारुति 800 कार का पोस्ट देखा गया। उक्त गाडी खरीदने के लिए शिकायतकर्ता द्वारा उक्त मोबाईल नम्बर पर सम्पर्क किया गया  तथा अज्ञात मोबाईल नम्बर धारक द्वारा शिकायतर्ता को पेटीएम एकाउट नम्बर दिया गया जिसमे शिकायतकर्ता द्वारा 34,000/-रुपये डाल दिए गए। उक्त प्रार्थना पत्र की जांच उ0नि0 कुलदीप टम्टा द्वारा की गई व शिकायतकर्ता के बैक से जिस पेटीएम एकांउट मे धनराशि गई थी, उस पेटीएम एकाउट की जानकारी की गई जो एकाउंट आसाम राज्य का होना पाया गया। जिसे डेविट फ्रीज कराया गया है।
साईबर सुरक्षा टिप
ध्यान रखे कि अंजान व्यक्ति द्वारा भेजे गये किसी भी पेमेन्ट गेटवे/वॉलेट/मोबाईल एप्लीकेशन पर धनराशि प्राप्त करने हेतु कभी भी न तो QR कोड स्कैन करें, और न ही UPI पिन डालें ऐसा करने से हमेशा धनराशि आपके खाते से ही डेबिट होगी। कृपया गूगल या अन्य किसी सर्च इंजन पर किसी कम्पनी/बैंक का कस्टूमर केयर नम्बर न ढूंढें। कस्टमर केयर का नम्बर सम्बन्धित कम्पनी/बैंक की अधिकारिक वैबसाईट से ही देखें। ऑनलाईन प्लेटफार्म पर खरीदारी या सामान बेचते वक्त द्वितीय पार्टी में तत्काल विश्वास ना करें। सामान को भौतिक रुप से देखने व विक्रेता/क्रेता से व्यक्तिगत रुप में मिलकर ही भुगतान करें।
किसी भी साईबर शिकायत / सुझाव के लिए संपर्क करें;
फ़ोन: 0135-2655900
email: ccps.deh@uttarakhandpolice.uk.gov.in
फेसबुक: https://www.facebook.com/cyberthanauttarakhand/