विश्व का पांचवा बड़ा इंटरनेशनल एयरपोर्ट स्थापित न होने देने में कांग्रेस पार्टी अपने एजेंटों के द्वारा रचा रहा है षड्यंत्र- भाजपा किच्छा विधायक राजेश शुक्ला

किच्छा: एक वरिष्ठ कांग्रेसी नेता के आवास पर किच्छा के निकट स्वीकृत ग्रीन फील्ड इंटरनेशनल एयरपोर्ट स्थापित ना होने देने के लिए केशव पासी के माध्यम से हाईकोर्ट में P.I.L. डालने की रीट तैयार की गई है। उक्त आरोप भाजपा के किच्छा क्षेत्र के विधायक राजेश शुक्ला द्वारा आज प्रेस वार्ता के दौरान लगाया गया। विधायक शुक्ला ने कहा कि तराई स्टेट फॉर्म की भूमि जो किच्छा के निकट है, उसमें विश्व का पांचवा बड़ा इंटरनेशनल एयरपोर्ट स्थापित करने की राह में कांग्रेस पार्टी अपने एजेंटों के द्वारा विरोध कराकर इसे बरहैनी ले जाने का षड्यंत्र रचा गया था जिसे सफल नहीं होने दिया गया।
राजेश शुक्ला ने कहा कि पंतनगर के वर्तमान में स्थापित एयरपोर्ट का विस्तार कर ग्रीन फील्ड इंटरनेशनल एयरपोर्ट के लिए लगभग 5 किलोमीटर के रन-वे (Run-way) वाली ग्यारह सौ एकड़ भूमि चाहिए थी, वहां वन विभाग व टी0डी0सी0 तथा सैनिक कल्याण फॉर्म होने के कारण विस्तारीकरण संभव नहीं था, ऐसे में उनकी पहल पर तत्कालीन चीफ सेक्रेट्री उत्पल सिंह के साथ भारत सरकार व राज्य सरकार के सचिव, कमिश्नर व जिलाधिकारी ने पंतनगर विश्वविद्यालय के प्रबंधन में तराई स्टेट फॉर्म की किच्छा के निकट आनंदपुर-अटरिया मार्ग का कुछ माह पूर्व निरीक्षण किया था तथा ग्यारह सौ एकड़ भूमि चयनित कर उसका परीक्षण भी कराया गया जो तकनीकी रूप से एयरपोर्ट के लायक पाई गई।

यह भी पढ़ें: मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत भी कोरोना पॉजिटिव, खुद अपने ट्विटर अकाउंट से दी जानकारी

राजेश शुक्ला ने कहा कि लगातार अवरोधों के बीच जब प्रदेश सरकार की त्रिवेंद्र सिंह रावत कैबिनेट ने उक्त भूमि को देने का निर्णय लिया तो केशव पासी के चेहरे के पीछे बैठी कांग्रेस पार्टी के बड़े नेता बेचैन हो गए। उन्हें लगा कि उत्तराखंड का पहला एयरपोर्ट जो अपनी विशालता में विश्व का पांचवा स्थान रखेगा तथा पूरी तरह पर्यावरण की दृष्टि से ग्रीन फील्ड होगा, यदि किच्छा विधानसभा क्षेत्र में स्थापित होता है तो उनका कद बढ़ेगा, इसलिए विरोध स्वरूप सरकार का पुतला फूंकने का काम कराया गया और स्वयं पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत जो इसी क्षेत्र से विधायक व सांसद का चुनाव लड़ चुके हैं, सार्वजनिक बयान देकर हवाई अड्डे की स्थापना के विरोध में आ गए।
विधायक राजेश शुक्ला  ने कहा कि उनके अथक प्रयासों से 3 दिन पूर्व उक्त भूमि एयरपोर्ट के नाम दाखिल खारिज हो जाने से अब बौखलाए कांग्रेसियों ने उक्त केशव पासी को आगे करके एक वरिष्ठ कांग्रेसी नेता के आवास पर एन, केन, प्रकारेण हवाई अड्डे के निर्माण में रोड़ा अटकाने के उद्देश्य से अखबारी बयानों व गलत तथ्यों के आधार पर एक रिट तैयार की है जो P.I.L. के द्वारा डालने का षड्यंत्र रचा है।
विधायक राजेश शुक्ला ने कहा कि 2400 करोड़ रुपए की लागत से बनने वाले इस एयरपोर्ट जिससे उत्तराखंड व उधम सिंह नगर व किच्छा के विकास की तस्वीर बदल जाएगी, उसे किसी भी कीमत पर बनने से रोकने का षड्यंत्र सफल नहीं होने दिया जाएगा तथा वे स्वयं भी सरकार के साथ-साथ इसकी हाईकोर्ट में दमदार पैरवी करेंगे।

यह भी पढ़ें: उत्तराखंड में आज 15 लोगों की मौत, 580 नए कोविड-19 मरीज़, 547 हुए आज स्वास्थ्य