चारधाम यात्रा 2021: सीबीएनएएटी, टीआरवीईएनएटी, आरटीपीसीआर में से कोई एक टेस्ट अनिवार्य, देव डोलियों के कुम्भ स्नान में कोविड नियमों का पालन जरूरीः महाराज

देहरादून: कोरोना महामारी के चलते चारधाम यात्रा 2021 और कुम्भ में आने वाले तीर्थ यात्रियों एवं पर्यटकों को तीन प्रमुख टेस्टों सीबीएनएएटी, टीआरवीईएनएटी, आरटीपीसीआर में से किसी एक टेस्ट के आधार पर ही यात्रा की अनुमति होगी।
पर्यटन मंत्री सतपाल महाराज ने महाकुम्भ और चारधाम यात्रा पर आने वाले पर्यटकों, श्रद्धालुओं और साधु-संतों से अनुरोध किया है कि वह धार्मिक परंपराओं और मर्यादाओं का निर्वाहन करने के लिए देह दूरी, सैनिटाइजर और मास्क का प्रयोग करते हुए कोविड नियमों का पालन अवश्य करें, ताकि हम सब एक दूसरे के सहयोग से चारधाम यात्रा और कुंभ का सफलता पूर्वक संचालन कर सकें।

यह भी पढ़ें: बड़ी खबर: उत्तराखंड सरकार का बड़ा फैसला: 10वीं की बोर्ड परीक्षा निरस्त, 12वीं की परीक्षा स्थगित

महाराज ने चारधाम यात्रा के विषय में स्पष्ट किया है कि चारधाम यात्रा पर राज्य के बाहर से आने वाले तीर्थ यात्रियों एवं पर्यटकों को तीन प्रमुख टेस्टों सीबीएनएएटी, टीआरवीईएनएटी, आरटीपीसीआर में से किसी एक टेस्ट के आधार पर ही यात्रा की अनुमति दी जायेगी।
महाराज ने बताया कि हरिद्वार में महाकुंभ पर आयोजित होने वाले देव डोलियों का कुंभ स्नान निर्धारित समय पर कोविड नियमों का पालन करते हुए आयोजित किया जाएगा। उन्होने कहा कि चूंकि सरकार ने कोरोना संक्रमण के बढ़ते मामलों को देखते हुए शनिवार और रविवार को साप्ताहिक कर्फ्यू का ऐलान किया है, इसलिए पूर्व में मुख्यमंत्री से और आज मुख्य सचिव से हुई मेरी वार्ता के बाद उन्होने 24 और 25 अप्रैल को देव डोलियों के सत्कार, सम्मान और कुम्भ स्नान कार्यक्रम को अनुमति देने की बात कही है। इस कार्य के लिए साधु संतों सहित सभी पुलिसकर्मियों और ड्यूटी पर लगे कर्मचारियों को भी आवश्यक हिदायत दे दी गई है।