करोड़ों के बिल तो पहुंचे, लेकिन सामान नहीं! आयोग ने सचिव को दिए जांच के निर्देश- मोर्चा, कर्मकार कल्याण बोर्ड में करोड़ो रुपए के सामान परिवहन का है मामला

विकासनगर: जन संघर्ष मोर्चा के जिला मीडिया प्रभारी प्रवीण शर्मा पिन्नी ने कहा कि कर्मकार कल्याण बोर्ड द्वारा की गई करोड़ों रुपए की खरीद के बिल तो विभाग के पास पहुंच गए थे, लेकिन सामान यथा साइकिल, टूल किट, सिलाई मशीन, सोलर लालटेन, वेल्डिंग मशीन आदि किस वाहन के द्वारा बोर्ड के पास पहुंचा, उक्त से संबंधित दस्तावेज विभाग के पास नहीं होने के मामले में मोर्चा द्वारा सूचना आयोग का दरवाजा खटखटाया गया था।
अपील पर कार्रवाई करते हुए सूचना आयुक्त जेपी ममगई ने प्रकरण को बहुत ही गंभीर माना एवं यह पाया कि सामान परिवहन के मामले में गड़बड़ी की आशंका से इनकार नहीं किया जा सकता। मोर्चा का कहना है कि बोर्ड के जालसाज अधिकारियों ने मिलकर गरीब मजदूरों से उनका हक छीनने का काम किया था।  उक्त मामले में ममगई ने कर्मकार कल्याण बोर्ड की सचिव को जांच के निर्देश दिए।
शर्मा ने कहा कि विभाग के पास न तो फार्म-31/ ई-वे बिल की प्रतियां मौजूद हैं और न ही ट्रक इत्यादि के नाम व नंबर, जिससे प्रतीत होता है कि विभाग द्वारा करोड़ों रुपए का घोटाला किया गया! मोर्चा  के कहा है कि मोर्चा गरीब श्रमिकों का शोषण बर्दाश्त नहीं करेगा एवं भ्रष्ट अधिकारियों को बर्बाद करके ही दम लेगा।

यह भी पढ़ें: अवैध हथियारों का बड़ा तस्कर अवैध हथियारों के साथ गिरफ्तार, सात तमंचों व जिन्दा कारतूस के साथ गिरफ्तारकरोड़ों के बिल तो पहुंचे, लेकिन सामान नहीं! आयोग ने सचिव को दिए जांच के निर्देश- मोर्चा, कर्मकार कल्याण बोर्ड में करोड़ो रुपए के सामान परिवहन का है मामला 2

करोड़ों के बिल तो पहुंचे, लेकिन सामान नहीं! आयोग ने सचिव को दिए जांच के निर्देश- मोर्चा, कर्मकार कल्याण बोर्ड में करोड़ो रुपए के सामान परिवहन का है मामला 3
करोड़ों के बिल तो पहुंचे, लेकिन सामान नहीं! आयोग ने सचिव को दिए जांच के निर्देश- मोर्चा, कर्मकार कल्याण बोर्ड में करोड़ो रुपए के सामान परिवहन का है मामला 4