उत्तराखंड में आज 585 नए कोविड-19 मरीज़ों की पुष्टि, 458 हुए स्वास्थ्य, 8 की मौत

देहरादून: उत्तराखंड स्वास्थ विभाग द्वारा जारी, कल शाम 06:00 बजे की रिपोर्ट में 585 नए कोविड-19 मरीज़ों की पुष्टि हुई है, जिसमें अल्मोड़ा ज़िले से 24, बागेश्वर ज़िले से 6, चमोली ज़िले से 57, चम्पावत ज़िले से 5, देहरादून ज़िले से 210, हरिद्वार ज़िले से 43, नैनीताल ज़िले से 71, पौड़ी ज़िले से 38, पिथौरागढ़ ज़िले से 34, रुद्रप्रयाग ज़िले से 28, टिहरी ज़िले से 31, उधमसिंह नगर ज़िले से 30 व उत्तरकाशी ज़िले से 8 संक्रमित मरीज़ पाए गए है।
कुल मिलाकर प्रदेश में अब संक्रमित मरीजों की संख्या बढ़कर 70790 हुई है। वहीँ अब तक स्वस्थ विभाग द्वारा जारी बुलिटेन में राज्य में कुल मिलाकर 1146 मौतें हुई है। जिसमे आज उत्तराखंड में 8 लोगों की मौत हुई है। जिसमे गवर्नमेंट दून मेडिकल कॉलेज देहरादून में 1, DH पिथौरागढ़ में 2, नीलकण्ठ मल्टी स्पैशलिटी हॉस्पिटल  में 1, हिमालयन हॉस्पिटल देहरादून में 1, HNB बेस हॉस्पिटल श्रीनगर में 2 व सुशीला तिवारी गवर्नमेंट हॉस्पिटल में 1 मौत हुई है। 
यह भी पढ़ें: गृह मंत्री अमित शाह तमिलनाडु दौरे पर, विधानसभा चुनाव से पहले अमित शाह का ये दौरा अहम
स्वस्थ हुए मरीज़ों की अब तक की संख्या 64851 हुई है, जिसमे आज 458 मरीज़ों को छुट्टी दी गयी है। अल्मोड़ा ज़िले से 3, बागेश्वर ज़िले से 21, चमोली ज़िले से 62, चम्पावत ज़िले से 3, देहरादून ज़िले से 167, हरिद्वार ज़िले से 53, नैनीताल ज़िले से 30, पौड़ी ज़िले से 8, पिथौरागढ़ ज़िले से 26, रुद्रप्रयाग ज़िले से 33, टिहरी ज़िले से 1, उधमसिंह नगर ज़िले से 49 व उत्तरकाशी ज़िले से 2 जो आज स्वास्थ होकर घर लोटे है। अब तक 627 ऐसे संक्रमित मरीज़ है जो राज्य से बहार शिफ्ट किया गए है।
अब उत्तराखंड में 4166 सक्रिय मामले बचे है जिसमे देहरादून ज़िले से 1196, पौड़ी गढ़वाल ज़िले से 427, टिहरी गढ़वाल ज़िले से 284, उदमसिंह नगर जिले से 231, चमोली जिले से 294, नैनीताल जिले से 358, उत्तरकाशी ज़िले से 157, पिथौरागढ़ जिले से 210, बागेश्वर जिले से 131, हरिद्वार ज़िले से 361, रुद्रप्रयाग जिले से 193, चम्पावत ज़िले से 100 और अल्मोड़ा ज़िले से 193 मरीज़ है। वहीं आज COVID-19 नकारात्मक पाए गए नमूनों की संख्या 11200 तथा भेजे गए नमूनों की संख्या 12263 है।
यह भी पढ़ें: 19 नवंबर 2020, बाबा बद्रीनाथ के कपाट बंद करने के दौरान के दृश्य, मुख्य पुजारी अपना मुख भगवान बदरी विशाल के ओर कर अपने निवास तक उल्टे कदम आते हुए