46 लाख की धोखाधड़ी करने वाला अभियुक्त पौड़ी गढ़वाल से गिरफ्तार

देहरादून: दून पुलिस से सुचना प्राप्त हुई कि दिनांक 18.11.2020 को वादी/शिकायतकर्ता पदम सिंह पुत्र साधूराम, निवासी बडोवाला, देहरादून द्वारा एसआईटी देहरादून को एक तहरीर दी गयी जिसमे अभियुक्तगणों द्वारा वादी से छल पूर्वक जमीन के नाम पर कुल 46 लाख लेना व जमीन की रजिस्ट्री न कर पैसे वापस न लौटाना के समबन्ध में एक प्रार्थना पत्र प्रेषित किया गया था जिस पर क्षेत्राधिकारी डोईवाला द्वारा जांच कर अभियोग पंजीकृत करने के आदेश पारित किये गये थे, जिसके आधार पर थाना हाजा पर मु0अ0सं0 252/20 धारा 420/406/504/506/120बी बनाम नीरज कुमार आदि पंजीकृत किया गया था।

यह भी पढ़ें: देहरादून: अट्ठाईस लाख का गबन करने वाले फरार मैनेजर गिरफ्तार

उक्त अभियोग की विवेचना उप निरीक्षक कमलेश प्रसाद गौड के सुपुर्द की गई थी। अभियुक्तगणों की गिरफ्तारी के लिए दिये गये पते पर पुलिस द्वारा दबिश दी गई जिसमे अभियुक्त अपनी गिरफ्तारी से बचने के लिए अपने निवास स्थान बदल-बदल कर रह रहे थे । उक्त अभियुक्त वांछित व फरार चल रहा था । जिसकी गिरफ्तारी के लिए व0उ0नि0 महावीर सिंह रावत व उ0नि0 कमलेश गौड के नेतृत्व में टीम गठित की गई। गठित टीम द्वारा अभियुक्त नीरज के मोबाईल नं0 की लोकेशन की जानकारी की गई तथा लोकेशन प्राप्त होने पर उ0नि0 कमलेश गौड के नेतृत्व में टीम को वांछित अभियुक्त की गिरफ्तारी हेतु जनपद पौडी गढवाल रवाना किया गया, जिनके द्वारा अभियुक्त नीरजकुमार पुत्र स्व सुदेश कुमार, निवासी मिस्सरवाला, डोईवाला हाल पता टंडन रोड, वेलमेड होस्पिटल, क्लेमैन्टाउन, देहरादून की लोकेशन ट्रेस कर दिनांक 02.04.2021 को डेविडधार रोड, जनपद पौड़ी गढ़वाल से गिरफ्तार किया गया। 
पुलिस टीम में उ0नि0 कमलेश प्रसाद गौड, कानि0 रविन्द्र टम्टा व कानि0 स्वप्निल ऋषि शामिल थे। 

यह भी पढ़ें:Video: रात्रि चौपाल में मुख्यमंत्री ने किया वर्चुअल प्रतिभाग, फर्जी बिल व नमामि गंगे में गड़बड़ियों की शिकायत पर मुख्यमंत्री ने जिलाधिकारी को 10 दिन में जांच कर रिपोर्ट प्रस्तुत करने के निर्देश