बागेश्वर: जल जीवन मिशन के अन्तर्गत हर घर को स्वच्छ जल उपलब्ध कराने के लिए सभी अधिकारी शीघ्रता से समय सीमा के अन्तर्गत कार्य पूर्ण करना सुनिश्चित करें-जिलाधिकारी

दीपक जोशी की जोशी;
बागेश्वर: बागेश्वर जल जीवन मिशन के अन्तर्गत जनपद के प्रत्येक घर को नल से जल उपलब्ध कराने के लिए बनाई जा रही कार्ययोजना के संबंध में जिलाधिकारी विनीत कुमार की अध्यक्षता में जिला कार्यालय में संबंधित अधिकारियों के साथ समीक्षा बैठक आहूत की गयी। बैठक में जिलाधिकारी ने उपस्थित अधिकारियों को निर्देश दिये है कि इस योजना के अन्तर्गत हर घर को स्वच्छ जल उपलब्ध कराने के लिए सभी अधिकारी शीघ्रता से समय सीमा के अन्तर्गत कार्य पूर्ण करना सुनिश्चित करें। उन्होंने कहा कि प्रत्येक घर में नल से जल उपलब्ध कराने के लिए जो लक्ष्य निर्धारित किया गया हैं उसके आधार पर कार्य करते हुए जल्द से जल्द लक्ष्य प्राप्त करना सुनिश्चित करें। उन्होंने अधि0अभि0 जल निगम एवं जल संस्थान को निर्देश दियें कि जिन कार्यो के लिए अभी तक डीपीआर तैयार नहीं की गयी हैं, उसके लिए उन्होने 10 नवम्बर, 2020 तक अनिवार्य रूप से डीपीआर तैयार करने के निर्देश दियें।
यह भी पढ़ें: अल्मोड़ा: विगत वर्षों की भांति इस बार भी राज्य स्थापना दिवस 09 नवम्बर को मनाया जायेगा-अपर जिलाधिकारी
उन्होने यह भी कहा कि जिन कार्यो के लिए टेंडर प्रक्रिया पूर्ण कर ली गयी हैं, उन पर तत्काल कार्य करना सुनिश्ति करें। तथा जिन कार्यो पर टेंडर प्रक्रिया शुरू की जानी हैं, उन पर शीघ्रता से शीघ्र टेंडर की कार्यवाही सुनिश्चित की जाय। उन्होने संबंधित अधिकारियों को स्पष्ट निर्देश दियें कि हर घर को नल से जल उपलबध कराना केंद्र सरकार एवं राज्य सरकार की यह महत्वाकांक्षी योजना हैं इस कार्य में किसी भी प्रकार की लापरवाही क्षम्य नहीं की जायेगी इसमें किसी प्रकार लापरवाही शिथिलता बरती जाने पर संबंधित अधिकारी के विरूद्ध आवश्यक कार्यवाही सुनिश्चित की जायेगी। बैठक में परियोजना निदेशक शिल्पी पंत ने जिलाधिकारी को अवगत कराया कि निर्धारित लक्ष्य के सापेक्ष कुल 9948 परिवारों को स्वच्छ पेयजल कनेक्शन उपलब्ध करा दियें गये हैं जिसमें जल निगम द्वारा 6930 तथा जल संस्थान द्वारा 3018 घरों को स्वच्छ पेयजल कनेक्शन उपलब्ध करा दियें गयें हैं।
बैठक में मुख्य विकास अधिकारी डी0डी0 पंत, प्रभागीय वनाधिकारी बी0एस0 शाही, अधि0अभि0 पेयजल निगम सीपीएस गंगवार, वरिष्ठ कोषाधिकारी पूरन चन्द्र उप्रेती, जिला पंचायत राज अधिकारी रामपाल सिंह सहित संबंधित विभागों के अधिकारी मौजूद रहे वहीं जनपद बागेश्वर में कोरोना संक्रमण से संक्रमित व्यक्तियों को बेहतर चिकित्सा और अन्य सुविधायें उपलब्ध करायें जाने के लिए मा0 उच्च न्यायालय के आदेशों के अनुपालन में जनपद स्तर पर गठित निगरारनी समिति के सदस्य सचिव जिला विधिक सेवा प्राधिकरण/सीनियर जज सीडी त्रिचा रावत, अध्यक्ष बार एसोसिएशन गोविन्द भण्डारी, अपर जिलाधिकारी हेमन्त कुमार वर्मा ने कोविड केयर सेंटर बागेश्वर का निरीक्षण कर वहॉ मरीजों को दी जा रही चिकित्सा सुविधा एवं अन्य व्यवस्थाओं का जायजा लिया। निरीक्षण के दौरान सचिव जिला विधिक सेवा प्राधिकरण/सीनियर जज ने कोविड केयर सेंटर में भर्ती मरीजों से वार्ता कर उनके स्वास्थ की जानकारी के साथ उन्हें उपलब्ध करायी जा रही चिकित्सा व अन्य व्यवस्थाओं के संबंध में जानकारी ली। उन्होने मरीजो से जाना कि उन्हें कोविंड केयर सेंटर में सभी सुविधायें ठीक प्रकार से उपलब्ध हो रही हैं, की नही जिस पर मरीजों ने कहा कि कोविड केयर सेंटर में उन्हें सभी सुविधायें उपलब्ध करायी जा रही हैं तथा चिकित्सकों द्वारा उनका निरन्तर स्वास्थ परीक्षण किया जा रहा हैं तथा खाने-पीने में कोर्इ असुविधा नहीं हैं, जो समय-समय पर उपलब्ध कराया जा रहा हैं, तथा यहां पर तैनात डॉक्टरों एवं अन्य स्टॉफ द्वारा उनकी बेहतर देखभाल की जा रही हैं।
यह भी पढ़ें: सभी विभाग यह सुनिश्चित करें कि सभी कार्य 31 मार्च 2021 से पूर्व पूर्ण होकर धनराशि शत प्रतिशत व्यय हो – पिथौरागढ़ जिलाधिकारी डॉ विजय कुमार
इस अवसर पर उन्होने कोविड केयर सेंटर में तैनात डॉक्टरों एवं अन्य स्टॉफ व सुरक्षा व्यवस्था तथा मरीजों को उपलब्ध कराया जा रही भोजन एवं साफ-सफाई के संबंध में जानकारी ली। निरीक्षण के दौरान कोविड केयर सेंटर में तैनात डॉक्टर ने समिति के सदस्यों को अवगत कराया कि कोविड केयर सेंटर में वर्तमान समय में 09 मरीज हैं जिनका उपचार किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि कोविड केयर सेंटर में मरीजों के बेहतर देख-भाल के लिए डॉक्टर, वार्डबॉय तथा सफाई कर्मचारी तैनात है जिनकी ड्यूटी शिफ्टवार लगायी गयी है। तथा कोविड केयर सेंटर में सुबह-शाम निरन्तर सेनटारईजेशन का कार्य किया जाता हैं। तथा कोविड केयर सेंटर में सुरक्षा के लिए पीआरडी, पुलिस के जवान तैनात कियें गये है और बताया कि कोविड केयर सेंटर से निकलने वाले कूडे का निस्तारण के लिए नगर पालिका के वाहन द्वारा प्रतिदिन कूडा उठाया जाता हैं। तथा कोविड केयर सेंटर में सभी अधिकारी एवं कार्मिको के पास पीपीई किट एवं सभी आवश्यक सुविधायें उपलब्ध है।
निरीक्षण के दौरान सचिव जिला विधिक सेवा प्राधिकरण/सीनियर जज ने कोविड केयर सेंटर में तैनात डॉक्टरों एवं अन्य स्टॉफ को निर्देश दियें कि कोविड केयर सेंटर में भर्तीं मरीजो का बेहतर ढंग से चिकित्सा सुविधायें व खान-पान की उचित व्यवस्था उपलब्ध करायी जाय तथा कोविड केयर सेंटर में बेहतर साफ-सफाई व्यवस्था तथा निरन्तर सेनेटारईजेशन किया जाय तथा सभी कर्मचारियों को सोशल डिस्टेंसिंग एवं मॉस्क का अनिवार्य रूप से प्रयोग करने तथा कोविड केयर सेंटर से निकलने वाले कूडे का उचित निस्तारण करने के निर्देश दियें। निरीक्षण के दौरान समिति के सदस्यों ने सभी व्यवस्थायें दूरस्थ पायी। निरीक्षण के दौरान जिला आपदा प्रबंधन अधिकारी शिखा सुयाल सहित अन्य डॉक्टर एवं स्टॉफ मौजूद रहें।
यह भी पढ़ें: केदारनाथ धाम में मौसम ने एक बार फिर ली करवट, हुई जमकर बर्फबारी