दून पुलिस ने आन लाइन सट्टे के अवैध करोबार में लिप्त अन्तर्राज्यीय गिरोह का किया पर्दाफाश, अम्बाला से 04 अभियुक्तों गिरफ्तार

देहरादून: दून पुलिस से जानकारी प्राप्त हुई कि पुलिस अधीक्षक नगर के पर्यवेक्षण में दिनाँक: 09-10-2020 की रात्री में क्षेत्राधिकारी नगर के नेतृत्व में गठित पुलिस टीम द्वारा बैण्ड बाजार खुडबुडा क्षेत्र में स्थित एक घर से तीन अभियुक्तों अजय जयसवाल, हरिओम जयसवाल तथा चिराग चड्ढा को आईपीएल क्रिकेट मैचों में आनलाइन सट्टा लगाते हुए गिरफ्तार किया गया था। जिनके कब्जे से रु0 पच्चीस लाख से अधिक की नगदी व सट्टे से सम्बन्धित अन्य सामग्री बरामद की गयी थी।

पूछताछ में अभियुक्त अजय जयसवाल द्वारा बताया गया कि वह उत्तराखण्ड तथा अन्य राज्यों से भी आनलाइन सट्टा लगवाता है। वह तथा उसका भाई हरिओम देहरादून से ही सट्टे के पूरे नेटवर्क को संचालित करते हैं। सट्टे के इस कारोबार में उसके भाई हरिओम के पुत्र अंकित जयसवाल तथा अंकुश जयसवाल भी उनके साथ शामिल हैं, जो अन्य राज्यों से सट्टा लगवाने व पैसा एकत्रित करने का कार्य करते हैं। उसके दोनो भतीजे इस कार्य के लिये अक्सर दिल्ली व अन्य स्थानो पर जाते रहते हैं, इसलिये उनके द्वारा दिल्ली लाजपत नगर में एक कमरा किराये पर लिया गया है, जहां पर रहकर भी वह उक्त सारी गतिविधियां संचालित करते हैं।

वर्तमान में भी उक्त दोनो अपने साथियों के साथ दिल्ली व अन्य स्थानों से पैसा एकत्रित करने गये हैं। उक्त सूचना पर पुलिस उपमहानिरीक्षक/वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक देहरादून द्वारा पुलिस अधीक्षक नगर के निर्देशन तथा क्षेत्राधिकारी नगर के पर्यवेक्षण में पुलिस टीम गठित कर अभियुक्तों की गिरफ्तारी हेतु दिल्ली रवाना की गयी। गठित टीम द्वारा दिल्ली लाजपतनगर क्षेत्र में अभियुक्तों की तलाश की जा रही थी। इसी बीच पुलिस टीम को मुखबिर के माध्यम से अंकित जयसवाल तथा अंकुश जयसवाल के पैसा कलैक्ट करने हेतु अम्बाला सिटी जाने तथा वहां पर जग्गी सिटी सैन्टर में होटल क्लार्क इन में रूके होने की सूचना प्राप्त हुई। जिस पर पुलिस टीम द्वारा तत्काल अम्बाला सिटी पहुंचकर मुखबिर द्वारा बताये गये होटल में दबिश दी गयी। होटल क्लार्क इन के एक कमरे में अंकित जयसवाल तथा अंकुश जयसवाल के साथ दो अन्य युवक गगन तथा हिमांशु मौजूद मिले।

कमरे की तलाशी लेने पर अभियुक्तों के कब्जे से रूपये 05 लाख से अधिक की नगदी, कई मोबाइल फोन, लैपटाप, कैलकुलेटर तथा अन्य सट्टा सामग्री बरामद हुई। चारों अभियुक्तों को मौके से गिरफ्तार कर देहरादून लाया गया, जिन्हें आज समय से मा0 न्यायालय के समक्ष पेश किया जायेगा।

नाम/पता गिरफ्तार अभियुक्त :

01: अंकित जायसवाल पुत्र हरिओम निवासी: 1618, खुडबुडा मौहल्ला देहरादून
02: अंकुश जयसवाल पुत्र हरिओम निवासी: 1618, खुडबुडा मौहल्ला देहरादून
03: गगन पुत्र गुरदयाल निवासी: 101 भण्डारी बाग थाना पटेलनगर
04: हिमांशु पुत्र प्रमोद कुमार निवासी: 33 डांडीपुर, थाना कोतवाली नगर।

पूछताछ में अभियुक्त अंकित जायसवाल द्वारा बताया गया कि उनके चाचा अजय जयसवाल देहरादून से ही आनलाइन सट्टा लगाने का नेटवर्क संचालित करते हैं, जिसमें मेरे पिता हरिओम जयसवाल भी उनका सहयोग करते हैं। मेरे चाचा व मेरे पिता पूर्व से ही सट्टे के कारोबार में लिप्त रहे हैं तथा इस कारण कई बार जेल भी जा चुके हैं। उनके द्वारा वर्तमान में चल रहे आईपीएल मैचों में भी आनलाइन सट्टा लगाने का नेटवर्क देहरादून से संचालित किया जा रहा है, जिसमें उत्तराखण्ड, दिल्ली व अन्य स्थानों से काफी लोग अपना पैसा लगाते हैं। मेरे पिताजी व चाचा देहरादून में रहकर आईपीएल मैचों में सट्टा लगाने का कार्य करते हैं तथा मैं व मेरा भाई अंकुश जयसवाल हमारे अन्य दो साथियों के साथ बाहरी राज्यों से आनलाइन सट्टा लगाने वाले लोगो का सट्टा लगवाने व उनके पैसा एकत्रित करने का कार्य करते हैं। हमें इस कार्य के लिये अक्सर दिल्ली व उसके आस-पास अन्य स्थानों पर जाना पडता है, इसलिये हमारे द्वारा दिल्ली के लाजपतनगर इलाके में एक कमरा किराये पर लिया गया है। जहां से हमारे द्वारा भी लोागो से फोन के माध्यम से सम्पर्क कर मेरे चाचा द्वारा देहरादून में संचालित किये जा रहे आनलाइन सट्टे में उनका पैसा लगाने का कार्य किया जाता है। आज भी हम दिल्ली तथ उसके आस-पास के स्थानों से लोगों से पैसा एकत्रित करने के लिये आये हुए थे, जहां दून पुलिस टीम द्वारा हमें गिरफ्तार कर लिया गया।

पुलिस ने अभियुक्तों सेे 5,48,000/- (पाच लाख अड्तालिस हजार नगद, 22 मोबाइल फोन, 1 लैपटाप, 1 कैलकुलेटर, , रजिस्टर व सट्टा पर्ची, वाहन जीप कम्पास नम्बर यूके-07-डीए-4444 व वाहन स्कार्पियो नम्बर- यूके-07-बीडब्ल्यू-4444 बरामद किया।

गठित पुलिस टीम में उ0नि0 नरोत्तम सिंह बिष्ट, थानाध्यक्ष क्लेमन्टाउन, उ0नि0 विवेक राठी, उ0नि0 संदीप कुमार, उ0नि0 प्रवीण सैनी, कां0 नितिन त्यागी, कां0 सुनील प्रसाद, कां0 प्रमोद व कां0 अरशद (एसओजी) शामिल थे।

You May Also Like