कृषि बिल के सम्बंध में अब भाजपा उत्तराखंड के 2200 शक्ति केंद्रों पर किसानों से संवाद करेंगी, कांग्रेस किसानों को भ्रमित व भड़काने के लिए कर रही है दुष्प्रचार: भगत

देहरादून 28 सितम्बर: भाजपा द्वारा कृषि बिलों के प्रावधानों के बारे में किसानों से सीधा संवाद करने व कांग्रेस द्वारा किए जा रहे दुष्प्रचार का जवाब देने के लिए बड़े स्तर पर योजना बनाई गई है। इसके अंतर्गत उत्तराखंड में 2200 शक्ति केंद्रों पर किसानों से सीधा संवाद करने सहित कई कदम उठाए जा रहे हैं।

भाजपा प्रदेश अध्यक्ष बंशी धर भगत ने बताया कि कृषि बिल में किसानों के हित में किए गए प्रावधानों के बारे में किसानों से सीधा संवाद करने का निश्चय किया गया है। इसी मध्य कांग्रेस द्वारा किसानों को भ्रमित करने व उन्हें भड़काने के लिए किए जा रहे दुष्प्रचार का खुलासा करने की योजना भी बनाई गई है। इसके अंतर्गत अब प्रदेश में 2200 शक्ति केंद्रों पर भाजपा किसान मोर्चा के द्वारा पार्टी पदाधिकारियों से तालमेल कर किसानों से सीधा संवाद किया जाएगा। पहले यह 252 मंडलों में यह कार्य किया जाना था। अब इसका विस्तार किया गया है।

उन्होंने बताया कि इसके साथ ही पार्टी पत्रक तैय्यार कर रही है, जिसमें कृषि बिल के प्रावधानों, हाल में की गई एम एस पी की घोषणा के तहत न्यूनतम मूल्यों में वृद्धि का विवरण दिए जाने के साथ कांग्रेस के दुष्प्रचार का खुलासा भी किया जाएगा। साथ ही पार्टी इस काम में सोशल मीडिया सहित अन्य माध्यमों का भी उपयोग करेगी।

भगत ने कहा कि कांग्रेस का राजभवन कूच इस बात का प्रमाण है कि कांग्रेस किसान व मज़दूर व जन सामान्य के हितों की विरोधी है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में केंद्र सरकार द्वारा कृषि अधिनियम बनाया गया है व श्रम सुधार बिल लाया गया है। वे किसानों व मज़दूरों के हित में हैं। लेकिन कांग्रेस ने स्वयं किसानों व मज़दूरों के हित में कुछ नहीं किया, उल्टा उनके शोषण में जुटी रही। अब जब मोदी जी ऐतिहासिक कदम उठा रहे हैं, तो कांग्रेस को पीड़ा हो रही है।

उन्होंने कहा कि लेकिन कांग्रेस के चेहरे से नक़ाब उतर चुके हैं और वह अपने षड्यंत्रों में खुद उलझ रही है।

You May Also Like