हिमालयन हॉस्पिटल में उत्तराखंड का सबसे बड़ा डायलिसिस सेंटर हुआ स्थापित, डायलिसिस मशीन 30 से बढ़ाकर की गई 40

डोईवाला: स्वास्थ्य सुविधाओं को विस्तार देते हुए स्वामी राम हिमालयन विश्वविद्यालय (एसआरएचयू) के अधीन हिमालयन हॉस्पिटल में हाईटेक डायलिसिस यूनिट बनाई गई है। कुलपति डॉ. विजय धस्माना ने डायलिसिस यूनिट का औपचारिक उद्घाटन किया। उन्होंने कहा कि हिमालयन हॉस्पिटल में मरीजों को अंतर्राष्ट्रीय स्तर की स्वास्थ्य सुविधाएं दी जा रही हैं।

हिमालयन हॉस्पिटल में नेफ्रोलॉजी विभाग की एडवांस डायलिसिस यूनिट का औपचारिक उद्घाटन किया गया। कुलपति डॉ. विजय धस्माना ने बताया कि एक नया ब्लॉक पूर्णरुप से नेफ्रोलॉजी विभाग के लिए शुभारंभ किया गया है।

कुलपति डॉ. विजय धस्माना ने कहा कि हिमालयन हॉस्पिटल में गुणवत्तापरक स्वास्थ्य सुविधाओं के क्षेत्र में लगातार इजाफा किया जा रहा है। डॉ. धस्माना ने कहा कि हमारा मकसद है कि हिमालयन हॉस्पिटल की एक छत के नीचे मरीजों को सभी स्वास्थ्य मिल सकें।

कुलपति डॉ. धस्माना ने कहा कि एडवांस नेफ्रोलॉजी यूनिट से नेफ्रो संबंधित रोगियों के उपचार में बेहतर मदद मिल सकेगी। नेफ्रोलॉजी की सभी सुविधाएं एक जगह पर आ गई हैं, इससे मरीजों को दी जा रही स्वास्थ्य सुविधाओं में इजाफा होने के साथ उनकी वेटिंग लिस्ट कम होगी। डॉक्टरों को भी कॉर्डिनेट करना आसान हो जाएगा।

इस दौरान प्रति कुलपति डॉ. विजेंद्र चौहान, डायलिसिस यूनिट के निदेशक डॉ. प्रकाश केशवया, चिकित्सा अधीक्षक डॉ. एसएल जेठानी, डॉ. शहबाज अहमद, डॉ. विकास चंदेल, डॉ. रेनू धस्माना, डॉ. दीपक गोयल, डॉ. संजॉय दास, नेफ्रो प्लस के मैनेजर बृज किशोर रावत आदि मौजूद रहे।

हिमालयन में उत्तराखंड का सबसे बड़ा डायलिसिस सेंटर स्थापित

हिमालयन हॉस्पिटल के डायलिसिस यूनिट के निदेशक डॉ. प्रकाश केशवया ने बताया कि साल 1999 में तीन डायलिसिस मशीनों के साथ यूनिट की स्थापना की गई थी। मरीजों की सुविधा को ध्यान में रखते हुए हिमालयन हॉस्पिटल में डायलिसिस मशीनों की संख्या बढ़ाई गई है। मशीनों की संख्या 30 से बढ़ाकर 40 कर दी गई। हिमालयन हॉस्पिटल में उत्तराखंड का सबसे बड़ा डायलिसिस सेंटर स्थापित है।

रोगियों को दी जाती है गुणवत्तापरक डायलिसिस सेवा

हिमालयन हॉस्पिटल के नेफ्रोलॉजिस्ट डॉ. शहबाज अहमद व डॉ. विकास चंदेल ने बताया कि हिमालयन हॉस्पिटल में रोगियों को गुणवत्तापरक डायलिसिस सेवा दी जाती है। प्रति माह औसतन 2600 डायलिसिस किए जाते हैं। इसमें आयुष्मान कार्ड के माध्यम से भी करीब 1800 डायलिसिस प्रतिमाह निशुल्क किए जाते हैं। उत्तराखंड के विभिन्न क्षेत्रों सहित उत्तर प्रदेश, हिमाचल प्रदेश से मरीज डायलिसिस के लिए आते हैं।

You May Also Like