सरकार की अनदेखी पर विधायक हरीश धामी हुऐ खफा, जिलाधिकारी कार्यालय में दिया सांकेतिक धरना

दीपक जोशी की रिपोर्ट;

पिथौरागढ़: जिला कलेक्ट्रेट परिसर में आज विधायक हरीश धामी सहित कांग्रेस नेताओं द्वारा सांकेतिक धरना दिया गया। धामी ने कहा कि बीते सप्ताह उनकी विधानसभा धारचूला में आई भीषण दैविक आपदा के चलते, मुनस्यारी तहसील के तल्लाजोहार से लेकर धारचूला तहसील के व्यास, चौदास एंव दारमा घाटी के हालात आसमानी आपदाओं से बद से बद्तर हो गये है। जिसके इन कि इन कि इन क्षेत्रों की हालात ठीक नहीं है। सरकार को इन क्षेत्रों को चिह्नित कर पुनर्निर्माण हेतु बिस्थापन करना चाहिए। साथ ही पीड़ित परिवार जनों को मुआवजा देकर हालात सामान्य करने की कार्यवाही करनी चाहिए।

वहीं उन्होनें सरकार व मुख्यमंत्री पर रोष जताया कि इतनी भीषण आपदा क्षेत्र में आने पर भी स्वंय नहीं आए। सीमांत क्षेत्र की जनता की आवाज उनके कानों तक नहीं पहुंची। उन्होंने एक बार भी प्रभावित क्षेत्र में मुआयना करना ही उचित नहीं समझा।

वहीं धामी ने बीआरओ की कार्यप्रणाली पर भी ऐतराज जताते हुए कहा कि सड़क खोलने में बीआरओ पूरी तरह से फैल साबित हो रही है। उन्होंने कहा कि उनके समर्थकों द्वारा स्वंय की मशीनरी द्वारा मदकोट जौलजीबी मार्ग जनता के लिए खोलने का कार्य किया जा रहे हैं। वह आज सांकेतिक उपवास धरना प्रदर्शन में बैठै और कहा कि अगर सरकार इसके बावजूद भी पिडित लोगों के साथ अन्याय करती है, तो पूरा जनमानस उग्र आंदोलन करने में बाध्य रहेगा।

अपने विधानसभा क्षेत्र धारचूला में आई आपदा के बाद सरकार की बेरुखी से बोखलाए क्षेत्रीय विधायक हरीश धामी ने आज विरोध स्वरूप पिथौरागढ़ जिला अधिकारी कार्यालय के सामने 2 घंटे का उपवास रखा। धरने के दौरान हरीश धामी ने राज्य सरकार पर क्षेत्र की उपेक्षा को लेकर मुख्यमंत्री को जमकर घेरा। धामी ने कहा कि आज क्षेत्र के अलग-अलग गांव में भीषण आपदा आई है। कई लोग बेघर हुए हैं, तो कई लोगों के रोजी रोटी के संसाधन समाप्त हुए हैं। सरकार लोगों के लिए टेंट और अन्य संशा धन जुटा पाने में असफल साबित हुई है। कई गांव की आंतरिक मार्ग पूर्णता ध्वस्त हुए हैं। वही मुनस्यारी से लेकर धारचूला तक कई स्थानों पर सड़क अभी तक खुली नहीं है। जिसका संज्ञान राज्य सरकार ने नहीं लिया है। नेपाल और चीन से लगे सीमांत जनपद लोगों को लेकर मुख्यमंत्री गंभीर नहीं है।

उपवास के दौरान कांग्रेस के मुख्य प्रवक्ता मथुरा दत्त जोशी, एडवोकेट रमेश कापडी ने भी त्रिवेंद्र रावत सरकार पर क्षेत्र की उपेक्षा का आरोप लगाया। पूर्व अध्यक्ष मुकेश पंत, प्रदीप पाल ने कहा कि मुख्यमंत्री को क्षेत्र के आपदा पीड़ितों की सुध लेनी चाहिये। इस दौरान त्रिलोक महर, ऋशेन्द्र महर, राजू धममी, मन्नू ठाकुराठी, दीपक लुंठी, कोमल साही, चंचल बोरा, विक्रम दानु, शकुंतला दताल, जगत महर, गोकर्ण जंगपांगी, जगदीश बिष्ट, जगदीश धामी, त्रिलोक बिष्ट, दीनू तिवारी, आशीष हावर्ड, बॉब कन्याल सहित कई वरिष्ठ कांग्रेसी उपस्थित थे।

दीपक जोशी जनपद पिथौरागढ़।

You May Also Like