सादगी से मनाई गई मसूरी में नाग पंचमी, करीब पांच सौ साल पुराना नाग मंदिर एक सिद्ध पीठ है और करीब पांच सौ साल पुराना-होशियार सिंह थापली

नरेश नौटियाल की रिपोर्ट:

मसूरी: जंहा पुरे देश में लॉक डाउन से सभी धार्मिक स्थल बन्द है, वंही पहाड़ो की रानी मसूरी से लगे नाग मंदिर में नाग पंचमी को प्रशासन से मिली अनुमति पर बड़ी सादगी से मान्य गया। पुलिस द्वारा सभी आने वाली गाडियों की चेकिंग की जा रही थी, जिससे कोई भी बाहरी व्यक्ति मंदिर परिसर में प्रवेश ना कर सके। वंही मंदिर के मुख्य मार्ग पर आने वाले सभी श्रदालुओं की थर्मल स्क्रीनिंग व सेनिटराईज कर मंदिर में जाने दिया जा रहा है।

मंदिर समिति के सदस्यों का कहना है कि इस बार कोरोना महामरी के चलते मंदिर में बाहरी व्यक्ति के प्रवेश पर पाबन्दी है और जो भी बाहरी लोग यंहा आ रहे है, उन्हें मंदिर परिसर के बाहर से ही बाहर भेजा जा रहा है जिससे कोरोना संक्रमण से बचा जा सके।

वंही मंदिर समिति के सदस्य होशियार सिंह थापली का कहना है कि ये नाग मंदिर एक सिद्ध पीठ है और करीब पांच सौ साल पुराना है।  उन्होंने कहा कि इस मंदिर की विशेषता है कि जो भी श्रदालु यंहा कोई मन्नत मांगता है उसकी मन्नत नाग देवता पूर्ण करते है।

You May Also Like