मुनस्यारी में आई आपदा में राहत कार्यों में लायें तेजी, सम्बन्धित विभागों को जिलाधिकारी ने दिये निर्देश

दीपक जोशी की रिपोर्ट; 

पिथौरागढ़: जनपद पिथौरागढ़ के तहसील बंगापानी क्षेत्र में विगत 19 जुलाई की रात्रि में भारी वर्षा से ग्राम तांगा, गैला एवं अन्य क्षेत्रों में मकान क्षतिग्रस्त होने व व्यक्तियों के लापता होने की सूचना रात्रि 2 बजे जिला आपदा परिचालन केन्द्र में प्राप्त होने पर तत्काल रात्रि में ही एसडीआरएफ, पुलिस, राजस्व एवं आपदा प्रबंधन की टीम को सूचित करते हुए मौके पर भेजा गया।

वहीं टांगा गांव में प्रशासन द्वारा ख़तरनाक रेस्क्यू आपरेशन चलाया जा रहा है। आपदा विभाग के खोज एवं बचाव दल के साथ साथ स्थानीय लोगों की मदद से प्रभावित लोगों को रेस्क्यू किया जा रहा है।

जिलाधिकारी द्वारा घटना की सूचना प्राप्त होने के तत्काल बाद संबंधित अधिकारियों व विभागों को प्रभावित क्षेत्र में पंहुचकर राहत एवं बचाव कार्य के निर्देश दिए गए। प्राप्त सूचनानुसार ग्राम गैला में 3 भवन क्षतिग्रस्त हुए हैं जिसमें एक परिवार के 3 ब्यक्ति मलवे में दब गए थे जिनके शव रेस्क्यू टीम द्वारा निकाल लिए गए हैं। तीन मृतकों में शेर सिंह पुत्र रतन सिंह उम्र 50 वर्ष, गोविन्दी देवी पत्नी शेर सिंह उम्र 45 वर्ष व ममता पुत्री शेर सिंह उम्र 24 वर्ष हैं। तीनों के शवों का पोष्टमार्टेम मौके पर ही कराया जा रहा है। गैला में उक्त घटना में 5 ब्यक्ति भी आंशिक रूप से घायल हो गए हैं जिनका उपचार किया जा रहा है।

दूसरी घटना क्षेत्र के टांगा मुनियाल की हैं जहाँ 3 मकान मलवे में दब गए जिसमें 11 ब्यक्तियों के लापता होने की सूचना है। 1 घायल ब्यक्ति को जिला चिकित्सालय लाया जा रहा है। लापता व्यक्तियों के रेस्क्यू का कार्य एसडीआरएफ, पुलिस, राजस्व व आपदा प्रबंधन की टीम द्वारा किया जा रहा है। इस कार्य हेतु डीडीहाट मिर्थी से आईटीबीपी की टीम भी मौके को रवाना हो गई है।

प्राप्त सूचना के अनुसार 11 लापता व्यक्तियों में जीत राम पुत्र हुड़किया राम, पार्वती देवी पत्नी जीत राम, रोशन कुमार पुत्र जीत राम, माधो सिंह पुत्र चंद्र सिंह, तुलशी देवी पत्नी माधो सिंह, गणेश सिंह पुत्र माधो सिंह, हीरा देवी पत्नी गणेश सिंह, दिब्याशू पुत्र गणेश सिंह, कुमारी लक्की पुत्री गणेश सिंह, पुष्पा देवी पत्नी भीम सिंह, प्रतिमा देवी पत्नी खुशाल सिंह हैं व 1 व्यक्ति नंदन सिंह घायल है।

तीसरी घटना बाता, मदकोट की है जहां दो मकान ध्वस्त हो गए हैं जहॉ 1 गाय व 1 बकरी ध्वस्त होने की सूचना प्राप्त हुई है। रात्रि में इन दोनों परिवारों को प्रशासन द्वारा अन्यत्र सुरक्षित स्थल पर शिफ्ट कर दिया गया। घटना स्थल में राजस्व एवं अन्य टीम द्वारा राहत कार्य जारी है।

चौथी घटना ग्राम सिरतोला की है जहॉ 3 मकानों में मलवा चला गया। सभी लोग सुरक्षित हैं। मौके पर राहत टीम द्वारा राहत कार्य जारी हैं।
तहसील बंगापानी के सभी आपदा प्रभावित क्षेत्रों में राहत एवं बचाव कार्य जारी हैं। जिलाधिकारी डॉ विजय कुमार जोगदण्डे द्वारा आपदा प्रभावित क्षेत्र में त्वरित राहत एवं बचाव कार्यों हेतु विभिन्न टीमों को भेजा गया है। स्वयं भी प्रभावित क्षेत्र में मौजूद रह कर आपदा राहत एवं बचाव कार्य को करवाया जा रहा है।

जिलाधिकारी ने अवगत कराया कि क्षेत्र में 3 दिन तक चिकित्सा टीम की तैनाती कर दी गई है। इसके अतिरिक्त तहसील मुन्स्यारी क्षेत्र में क्षति के आंकलन व राहत एवं बचाव कार्यों हेतु उपजिलाधिकारी गंगोलीहाट भगत सिंह फोनिया को एक सप्ताह हेतु मुन्स्यारी में तैनात कर दिया गया है। पूर्ति विभाग द्वारा प्रभावित परिवारों को तुरंत खाद्यान्न पैकेट उपलब्ध कराए जा रहे हैं। उप जिलाधिकारी धारचूला ए के शुक्ला के नेतृत्व में राजस्व एवं पुलिस की टीम द्वारा स्थानीय लोगों की मदद से राहत एवं बचाव व खोजबीन का कार्य जारी है।

You May Also Like