बड़ी खबर: पिथौरागढ़ के मुनस्यारी तहसील के दो स्थानों में फटा बादल, 3 लोगों की मौत, 5 ज़ख़्मी, 11 लोग लापता!

दीपक जोशी की रिपोर्ट;
पिथौरागढ़: आपदा प्रबंधन विभाग की सूचना के आधार पर बीते रात मुनस्यारी तहसील के दो अलग अलग क्षेत्रों, ग्रांम टांगा व ग्रांम मल्ला गैला में बादल फटने की सूचना प्राप्त हुई, जिसमें प्रारम्भिक सूचना के आधार पर टांगा में 11 लोगों का संपर्क नहीं मिल पा रहा है। आपदा के कारण संचार सेवा, सड़क सेवा आवागमन के साधन बुरी तरह प्रभावित हुऐ हैं। जिस कारण वहां की उचित जानकारी लेने का प्रयास प्रसासन की टीम कर रही है। वहीं मल्ला गैला ग्रांम में बादल फटने से 3 लोगों की मृत्यु तथा 5 लोगों की बुरी तरह मलवे भूस्खलन के प्रभाव आहत होने की खबर प्राप्त हुई है। वहीं मृतकों में शेर सिंह पुत्र रतन सिंह, महेंद्र सिंह पुत्र रतन सिंह व एक महिला कु ममता पुत्री शेर सिंह बताया गया है। घायलों में डिगर सिंह, रूक्मणी देवी, प्रिंयका देवी, शीला देवी व एक ढाई साल का एक बालक मंकू भी सामिल है।

मौके पर जिलाधिकारी के निर्देश पर जिला प्रसासन द्वारा रेस्क्यू हेतु आपदा प्रबंधन एसडीआरएफ टीम, राजस्व पुलिस व चिकित्सकों की टीम मौके पर भेज दी गई है। अभी भी लगातार बारिश का मौसम बना हुआ है, जिससे सपर्क सूत्र स्थापित करने में दिक्कत का सामना करना पड़ रहा है। 

मुनस्यारी जिले व अन्य इलाकों में भारी बारिश और बादल फटने से भारी तबाही हुई है। टांगा गांव में भूस्खलन के दौरान पहाड़ी से निकले मलबे के साथ तीन मकान भी बह गए।

एक दर्जन से अधिक गावों में बारिश ने भारी तबाही मचाई है। खतरे की जद में आए परिवारों को शिफ्ट किया जा रहा है। मुनस्यारी को जाने वाली सड़कें बंद हैं। मुनस्यारी और बंगापानी क्षेत्र में शनिवार रात को भी भारी बारिश ने जमकर कहर बरपाया था। गोरी नदी का जलस्तर बढ़ने से छोरीबगड़ गांव के पांच मकान बह गए थे। मुनस्यारी के धापा गांव में भूस्खलन के दौरान अपनी मां के साथ सुरक्षित स्थान की ओर जा रहा पांच साल का बच्चा भी बह गया था। जिसे कुच्छ आगे जाकर ग्रामीणों नें बचा लिया।

You May Also Like