कई दुकानदारों से सामान लेकर फ़र्ज़ी ऑनलाइन पेमेंट का झांसा देकर लाखों के सामान ठगने वाले गिरोह के दो शातिर अपरादी गिरफ्तार

देहरादून: पुलिस से सुचना प्राप्त हुई कि दिनांक 17 जुलाई 2020 को धर्मपुर स्थित अरोड़ा इलेक्ट्रॉनिक्स एंड कम्युनिकेशंस के स्वामी संजय अरोड़ा द्वारा धर्मपुर पुलिस को सूचना दी गई कि उनकी धर्मपुर स्थित दुकान पर दोपहर के समय दो व्यक्ति आय जिन्होंने एक माइक्रोमैक्स एलईडी खरीदने की बात कहकर एक एलईडी पसंद किया जिसकी कीमत करीब ₹11000 थी। दोनों ने उनको कहा कि हम आपको ऑनलाइन पेमेंट कर देंगे। आप अपना नंबर बताइए। दुकानदार द्वारा अपना अकाउंट नंबर उन्हें बताया गया। इसके बाद संबंधित दुकानदार के मोबाइल नंबर पर एक मैसेज आया।

Dear costomour you have recieved Rs10,500 from UPI BHIM transiction-007541844796 on 19/07/2020 11:57AM, Ukt मेसेज BP-60010 से दुकानदार के नम्बर पर आया जिससे दुकानदार को लगा कि पेमेंट आ गयी।

एवं उक्त दोनों ग्राहक बनकर आए व्यक्ति तुरंत टीवी लेकर दुकान से जल्दी से निकल गए। कुछ देर में दुकान स्वामी द्वारा अपनी अकाउंट को चेक किया गया लकिन अकाउंट में किसी प्रकार की कोई पेमेंट नहीं आई। दुकानदार को यकीन हो गया कि उसके साथ उक्त लोगों ने ठगी कर दी है, जिसकी सूचना दुकान स्वामी द्वारा तुरंत थाने की सरकारी नंबर पर दी गई।

यह भी पढ़ें: 1575 नशीले कैप्सूल के साथ एक अभियुक्त गिरफ्तार

उक्त सूचना पर संज्ञान लेते हुए थाने से चौकी प्रभारी धनीराम के नेतृत्व में तुरंत टीम मौके पर पहुंची। मौके पर जाकर दुकान स्वामी के बयान अंकित किए गए एवं दुकान स्वामी की तहरीर के आधार पर थाना नेहरू कॉलोनी पर मुकदमा अपराध संख्या 235/2020 धारा 420 406 IPC पंजीकृत किया गया।

उक्त घटना के संबंध में थाना नेहरू कॉलोनी की टीम द्वारा आसपास के सीसीटीवी फुटेज खंगाले गए जिससे जानकारी प्राप्त हुई कि उक्त ठग धर्मपुर चौक से एक ऑटो में बैठ कर चले गया। पुलिस द्वारा उक्त ऑटो नंबर के आधार पर ट्रेस कर उक्त ऑटो चालक की तलाश कर तुरंत पूछताछ की गई। ऑटो चालक द्वारा बताया गया कि दोनों व्यक्तियों को टीवी के साथ सर्वे चौक पर उतार दिया गया था। जिसके बाद पुलिस टीम द्वारा सर्वे चौक पर सीसीटीवी फुटेज खंगाले गए। सर्वे चौक से दोनों एक दूसरे ऑटो में बैठते हुए दिखाई दिए।

यह भी पढ़ें: अम्बीवाला क्षेत्र में एक युवक ने फांसी लगाकर की आत्महत्या, एक सप्ताह पूर्व ही खरीदा था सेकंड हैंड छोटा हाथी

दूसरे ऑटो को सीसीटीवी के माध्यम से चेक किया गया एवं करणपुर एरिया में कॉलोनी के आसपास पूछताछ की गई। पुलिस टीम उक्त दोनों की तलाश में मामूर थी। सायं के समय पुलिस टीम ने उक्त दोनों व्यक्तियों को करनपुर के पास पकड़ लिया। दोनों व्यक्तियों से वादी की दुकान धर्मपुर से जो टीवी ठगा था, वो बरामद हुआ।

दोनों द्वारा इसी प्रकार की ठगी दिनांक 17 जुलाई को लाडपुर में एक दुकान से भी की गई। जिस सम्बन्ध में थाना रायपुर पर मुकदमा अपराध संख्या 161/2020 धारा 420 406 ipc पंजीकृत है। दोनों व्यक्तियों को वादी से ठगी के आरोप में गिरफ्तार किया गया।

गिरफ्तार व्यक्तियों के नाम लवित पुत्र रघुराज, निवासी ग्राम चोटीपुरा, थाना राजतपुरा, जिला अमरोहा, उत्तर प्रदेश उम्र 19 वर्ष व व अभिषेक पुत्र राजपाल, निवासी ग्राम मकनपुर, दाऊ थाना हसनपुर, जिला अमरोहा, उत्तर प्रदेश, उम्र 19 वर्ष है।

यह भी पढ़ें: Jammu & Kashmir: Three militants have been killed in an encounter in Shopian

दोनों गिरफ्तार व्यक्तियों से पूछताछ मैं बताया कि दोनों हसनपुर/राजतपुर अमरोहा उत्तर प्रदेश के रहने वाले हैं एवं ठगी करने के इरादे से दोनों योजना बनाकर उत्तर प्रदेश अमरोहा से आकर देहरादून में दिनांक 09 जुलाई को टैक्सी से आए। देहरादून में करणपुर के आसपास दोनों द्वारा अमित सेठी के मकान पर किराये पर रूम लिया गया एवं रूम लेकर दोनों ने मिलकर ठगी करने का प्लान बनाया। दोनों ने ठगी का नया प्लान तैयार किया जिसके तहत दुकान में जाकर दोनों के द्वारा दुकान से कुछ भी सामान खरीद लिया जाता था एवं गूगल पेमेंट करने के झांसा देकर दुकानदारों के मोबाइल नंबर में कंपनी का एक मैसेज जिसमें पेमेंट रिसीव लिखा होता था। यह मैसेज गूगल में जाकर text local में id बनाकर किसी को भी भेजा जा सकता है। जिसमे भेजने वाले का नम्बर शो नही होता है कैवल BP-60010 शो होता है, जिससे दुकानदार को लगता है कि पेमेंट आ गयी। जब तक दुकानदार चेक करवाता, तब तक दोनो तुरंत सामान लेकर वहां से फरार हो जाते थे। इस प्रकार दोनों ने देहरादून में कई दुकानों से इस तरह की ठगी कर सामान ठग लिया था एवं काफी सामान किराये के रूम पर एकत्रित कर लिया था। अब दोनों कुछ दिन बाद और सामान एकत्र कर देहरादून से गाड़ी बुक कर अमरोहा जाने की फिराक में थे एवं अमरोहा उत्तर प्रदेश जाकर सामान बेचकर मोटा मुनाफा कमाने की योजना थी।
अभियुक्त लवित 12वीं पास व अभियुक्त अभिषेके भी 12वीं पास है। दोनों के माता पिता खेती बाड़ी का काम करते हैं। दोनो ने यूट्यूब पर वीडियो देखी की बिना नम्बर शो के मैसेज कैसे किया जा सकता है। वीडियो से प्रेरित होकर ही ठगी करने का आईडिया दोनो के दिमाग मे आया।

बरामद सामान का विवरण इस प्रकार से है।

*1* – माइक्रोमैक्स LED 32 inch कीमत करीब 11000
*2* -exide बैटरी कीमत करीब 20000
*3* – exide छोटी बैटरी कीमत करीब 3000
*4* – exide इन्वर्टर कीमत करीब 5000
*5* – एमरोन्न बड़ी बैटरी कीमत 15000
*6* -मिक्रोटेक invrtr कीमत करीब 10000
*7* – एमरोन्न कार बैटरी कीमत 3000
*8* -सीलिंग फेन कीमत 3000
*9* -मिक्सर ग्रांडर कीमत 2000
*10* -equaguard ro कीमत 12000
*11* -एक पेटी पंखों की उषा जिसमे 4 पंखे कीमत 8000
*12* -एक पेटी पंखों की क्रोम्पटोंन जिसमे 4 पंखे कीमत 8000
*13* – एक पेटी पंखों की जिमसें 4 पंखे sendai कंपनी की। 8500
*14* -एक पंखे की पेटी कीमत 7000
*15* –एक एमरोन्न इन्वर्टर ups कीमत 6000
*16* – एक microtek बैटरी कीमत 8000
*17* -तीन बाल्टी एशियन पेंट कीमत 18000
*18* – एक कपड़ो का थैला जिसमे जीन्स पेंट शर्ट नई कीमत करीब 3000
*19* -दो मोबाइल फोन जिसे घटना में प्रयुक्त करते हैं

शामिल पुलिस टीम में पल्लवी त्यागी क्षेत्राधिकारी नेहरू कॉलोनी, दिलबर सिंह नेगी थानाध्यक्ष नेहरू कॉलोनी, राज विक्रम सिंह एस एस आई, उप निरीक्षक धनीराम, चौकी प्रभारी नेहरू कॉलोनी आर विजय कुमार, सुरेंद्र, दीप प्रकाश व थाना डालनवाला से SI अरुण असवाल, कांस्टेबल सौरभ वालिया और कांस्टेबल प्रमोद एसओजी शामिल थे।

थाना नेहरू कॉलोनी पुलिस द्वारा घटना पर तुरंत संज्ञान लेते हुए 12 घंटे के अंदर ही घटना का खुलासा किया गया, जिसमें वादी के सम्मान के साथ-साथ देहरादून के कई दुकानदारों का शत प्रतिशत सामान बरामद हुआ है। जिनकी तलाश कर संबंधित दुकानदारों को सम्मान लौटाया जाएगा एवं व्यापार संघ धर्मपुर द्वारा पुलिस टीम के उत्कृष्ट कार्य की प्रशंसा की गई है।

You May Also Like