पिथौरागढ़ जिला चिकित्सालय से टेली काउंसलिंग ब्यवस्था की हुई शुरूवात, जिलाधिकारी ने किया परामर्श केन्द्र का शुभारंभ

दीपक जोशी की रिपोर्ट; 

पिथौरागढ़: पिथौरागढ़ जिला चिकित्सालय से टेली काउंसलिंग ब्यवस्था प्रारम्भ हो गई है। सोमवार को जिलाधिकारी डॉ विजय कुमार जोगदण्डे द्वारा जिला चिकित्सालय में बनाए गए परामर्श केन्द्र का शुभारंभ किया गया। जनपद में कोविड-19 के अंतर्गत विभिन्न व्यक्ति जिन्हें इस संक्रमण काल में जारी लॉक डाउन के कारण विभिन्न प्रकार की स्वास्थ्य एवं मानसिक संबंधी समस्या आदि उत्पन्न हो रही है,ऐसे व्यक्तियों हेतु जिला चिकित्सालय में एक नई शुरुआत करते हुए मानसिक स्वास्थ्य परामर्श एवं परीक्षण केन्द्र स्थापित किया गया है।

सोमवार को जिलाधिकारी डॉ विजय कुमार जोगदण्डे द्वारा जिला चिकित्सालय में टेली काउंसलिंग सेंटर के शुभारंभ अवसर पर अपने संबोधन में कहा कि देश के विभिन्न क्षेत्रों से अनेकों प्रवासी अपने-अपने गांव लौटे हैं, ऐसे व्यक्तियों को इस काल में रोजगार को लेकर या अन्य किसी प्रकार से विभिन्न समस्या हो सकती है। मानसिक समस्या को लेकर भी अनेक समस्या हो सकती है, इसी को लेकर जिला चिकित्सालय पिथौरागढ़ में मानसिक स्वास्थ्य परामर्श केन्द्र खोला गया है, जो प्रात: 8 बजे से अपराह्न 2 बजे तक खुला रहेगा। इसके अतिरिक्त टेलीफोन के माध्यम से भी परामर्श दिया जाएगा। ऐसे व्यक्ति को जिला चिकित्सालय में बुलाकर उस व्यक्ति की चिकित्सक से वार्ता कराकर समस्या का समाधान आदि कराया जाएगा।

इस दौरान प्रमुख चिकित्साधीक्षक ने अवगत कराया कि मानसिक परामर्श केन्द्र में कुल 3 परामर्श दाता रखे गए हैं। उन्होंने कहा कि कोई भी व्यक्ति जिसे किसी भी प्रकार से मानसिक व चिकित्सकीय समस्या है, वह इस केन्द्र में आकर या दूरभाष के माध्यम से जानकारी व परामर्श ले सकता है। जिलाधिकारी ने कहा कि जो भी व्यक्ति केन्द्र में आकर या दूरभाष के माध्यम से अपनी समस्या या अन्य जानकारी से अवगत कराता है, तो उक्त व्यक्ति के बारे में सम्पूर्ण जानकारी रखते हए, संबंधित व्यक्ति की चिकित्सक से वार्ता कराई जाए।

निरीक्षण के दौरान मुख्य विकास अधिकारी डॉ सौरभ गहरवार, प्रमुख चिकित्सा अधीक्षक एन एस गुंज्याल, प्रभारी मुख्य चिकित्साधिकारी डॉ हरीश पंत आदि मौजूद रहे।

You May Also Like