पिथौरागढ़ क्षेत्रान्तर्गत में जो भी निर्माण कार्य हो, उनका प्राधिकरण से मानचित्र स्वीकृत कराना अनिवार्य, देखें रिपोर्ट

दीपक जोशी  की रिपोट;

पिथौरागढ़: जिलाधिकारी व उपाध्यक्ष जिला विकास प्राधिकरण डॉ विजय कुमार जोगदण्डे द्वारा विगत दिनों सम्पन्न विकास प्राधिकरण की मासिक समीक्षा बैठक में प्राधिकरण विभाग के अधिकारियों को दिए गए निर्देशानुसार उप जिलाधिकारी पिथौरागढ़ तुसार सैनी के नेतृत्व प्राधिकरण की टीम द्वारा पिथौरागढ़ नगर के विभिन्न क्षेत्रों, कुमौड़, जाखनी, धारचूला रोड, टकाना व बाजार क्षेत्र का भ्रमण कर वर्तमान में इन क्षेत्रों में चल रहे निर्माण कार्यों का स्थलीय निरीक्षण कर भवन स्वामियों से भू अभिलेख व निर्माण कार्य संबंधित मानचित्र आदि दस्तावेज प्राप्त कर जानकारी लेते हुए निरीक्षण किया गया।

यह भी पढ़ें: उत्तराखंड में दुकानों को खोलने का समय अब शाम 08 बजे तक, देहरादून में अगले सप्ताह से शनिवार और रविवार को भी मार्केट खोलने के निर्देश

इस दौरान संयुक्त टीम द्वारा कुल 25 निर्माण कार्यों का स्थलीय निरीक्षण किया गया, जिसमें से 18 कार्यों में मानकानुसार व स्वीकृत मानचित्र के अनुरूप कार्य नहीं पाए जाने पर संबंधितों को जिला प्राधिकरण के माध्यम से नोटिस भेजने हेतु समिति द्वारा निर्णय लिया गया जिन्हें सोमवार को नोटिस उपलब्ध कराया जाएगा। इस दौरान संयुक्त टीम द्वारा क्षेत्रवासियों को विकास प्राधिकरण से सम्बंधित विभिन्न जानकारी दी गई। टीम द्वारा अवगत कराया गया कि, क्षेत्रान्तर्गत जो भी निर्माण कार्य हों, उनका प्राधिकरण से मानचित्र स्वीकृत कराना अनिवार्य है।
निरीक्षण के दौरान अधिशासी अभियंता जिला विकास प्राधिकरण/ग्रामीण निर्माण विभाग एल सी पाण्डेय, सहायक अभियंता भीम सिंह, नायब तहसीलदार पंकज चंदोला, अवर अभियंता मनोज कुमार व अनिल बिष्ट आदि उपस्थित रहे।

 

You May Also Like