कोरोना के नये नियमों को लेकर व आज जिला देहरादून में हुए सभी कार्यों का लेखा जोखा-जिलाधिकारी डाॅ आशीष कुमार श्रीवास्तव द्वारा हुई प्रेस रिलीज़ जारी

देहरादून: जिलाधिकारी डाॅ आशीष कुमार श्रीवास्तव ने अवगत कराया कि राज्य में ग्रीन एवं ऑरेंज जनपद में अन्तरजनपदीय आवागमन हेतु पास की अनिवार्यता नही है, परन्तु आवागमन से पूर्व देहरादून स्मार्ट सिटी की वेबसाईट पर रजिस्ट्रेशन कराना अनिवार्य है। जिलाधिकारी ने बताया कि जो व्यक्ति रेड जोन से प्रवेश कर रहे हैं, उनको देहरादून स्मार्ट सिटी की वेबसाईट पर पंजीकरण कर अनुमत ई-पास के उपरान्त ही जनपद में प्रवेश करने दिया जायेगा।  जिलाधिकारी ने बताया कि राज्य सरकार के नये नियमों के अनुसार जो व्यक्ति अन्य कोविड-19 से प्रभावित क्षेत्रों से विभिन्न माध्यमों से जनपद में आ रहे हैं, उन्हें 7 दिन संस्थागत क्वारेंटीन, तत्पश्चात  14 दिन के लिए  होम क्वारेंटीन किया जायेगा। इसके अतिरिक्त प्रशासन द्वारा संस्थागत क्वारेंटीन फैसिलिटी से पेड क्वारेंटीन में जाने का विकल्प व्यक्ति के पास उपलब्ध रहेगा। ऐसे व्यक्ति जो कोविड-19 संक्रमण से कम प्रभावित क्षेत्रों से जनपद में प्रवेश कर रहे हैं, उन्हें 14 दिन का होम क्वारेंटीन किया जायेगा। उन्होंने कहा जिन व्यक्तियों को होम क्वारेंटीन किया गया है, उन्हें स्वास्थ्य मंत्रालय भारत सरकार के नियमों के अनुसार 14 दिन के लिए घर में रहना होता हैै तथा किसी से मिलने एवं घर से बाहर सार्वजनिक स्थानों पर जाना प्रतिबन्धित रहता है। यदि कोई नियमों का उल्लंघन करता है तो  सम्बन्धित के विरूद्ध सुसंगत नियमों के अन्तर्गत कार्यवाही की जायेगी।

यह भी पढ़ें: उत्तराखंड कोरोना बुलेटिन: स्वास्थ्य विभाग द्वारा जारी, रात 8 बजे की रिपोर्ट, 44 और कोरोना पॉजिटिव

जनपद देहरादून स्थित महाराणा प्रताप स्पोर्टस कालेज रायपुर से विभिन्न जनपदों के 46 व्यक्तियों को 3 वाहनों के माध्यम से स्वास्थ्य परीक्षण उपरान्त सम्बन्धित जनपदों/क्षेत्रों में भेजा गया, जिसमें, जनपद पौड़ी के 8, टिहरी के 10 एवं उत्तरकाशी के 28 व्यक्तियों को उनके जनपदों/ गंतव्य स्थलों को भेजा गया। इसी प्रकार छतरपुर, मध्यप्रदेश के 39 व्यक्तियों को स्वास्थ्य परीक्षण उपरान्त 1 बस के माध्यम से सम्बन्धित राज्य हेतु भेजा गया।
विज्ञप्ति जारी किये जाने तक, वायु सेवा के माध्यम से जौलीग्रान्ट एयरपोर्ट पर पंहुचे प्रवासी 176 व्यक्तियों को स्वास्थ्य जांच उपरान्त जनपद में प्रशासन द्वारा अधिग्रहित विभिन्न होटल में संस्थागत क्वारेंटीन किया गया है। इसी प्रकार जनपद के जौलीग्रान्ट एयरपोर्ट से विभिन्न प्रदेशों के 333 व्यक्तियों को गंतव्यों हेतु भेजा गया।
जनपद में आज काठ गोदाम स्टेशन से देहरादून हेतु जनशताब्दी ट्रैन से 162 व्यक्ति पंहुचे तथा 805 व्यक्ति जनपद से गये हैं, जिसमें नई दिल्ली स्टेशन हेतु 435 तथा काठगोदाम हेतु 370 व्यक्ति शामिल हैं।

यह भी पढ़ें: सचिवालय में मुख्य सचिव उत्पल कुमार सिंह ने की प्रेस वार्ता, दूसरे राज्यों से आने वाले व प्रदेश के भीतर एक से दूसरे जनपद में जाने के लिया दी यह जानकारी

जनपद के  विभिन्न चयनित स्थानों पर प्रशासन द्वारा अधिकृत 10 मोबाईल वैन के माध्यम से सस्ते दरों पर 98.87 क्विंटल फल-सब्जियों का विक्रय किया गया। जिला प्रशासन की टीम द्वारा जनपद के ऋषिकेश नगर निगम क्षेत्र में अवस्थित आशुतोष नगर/बैराज रोड ऋषिकेश में खाद्य एवं दैनिक उपयोग की आवश्यक सामग्री उपलब्ध करवाई गयी। प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना के अन्तर्गत आशुतोष नगर/बैराज रोड में 519 उपभोक्ताओं को खाद्यान उपलब्ध कराया गया। दुग्ध विकास विभाग द्वारा शिवाजी नगर ऋषिकेश में 20 ली0, बैराज कालोनी ए और डी ब्लाक में 35 ली0, बीस बीघा कालोनी लेन न0 9 ऋषिकेश में 20 ली0, आशुतोष नगर ऋषिकेश में 15 ली0, मोतीचूर रायवाला में 15 ली0, ई डब्लू एस कालोनी एमडीडीए मेें 15 ली0, गुरूरोड पटेलनगर में 15 ली0, सेवला कला में 20 ली0, नेगी तिराहा रेसकोर्स में 15 ली0, डांडीपुर मौहल्ला में 15 ली0 संतोवाली में 15 ली0   कुल 200 ली0 दूध विक्रय किया गया।
जिला प्रशासन की टीम द्वारा स्वयंसेवी संस्थाओं के सहयोग से जनपद अन्तर्गत विकासखण्ड चकराता, विकासनगर, सहसपुर, रायपुर व डोईवाला एवं तहसील सदर में कुल 577 निराश्रित पशुओं जिसमें 303 श्वान, 238 गौवंश एवं 36 अन्य पशुओं को चारा व पशु आहार उपलब्ध कराया गया। कोविड-19 संक्रमण की रोकथाम के दृष्टिगत मुख्य पशु चिकित्साधिकारी डाॅ ए.के डिमरी, एवं जिला खाद्य सुरक्षा अधिकारी जी.सी कण्डवाल द्वारा विभिन्न होटल्स के कार्मिकों को कोविड-19 संक्रमण से बचाव हेतु कुल 72 कार्मिकों को प्रशिक्षण दिया गया जिनमें होटल रिजेंटा सुधोवाला में 21, होटल गोल्डन पाॅम केपिटल में 8, होटल चुटने मेरी में 7, होटल मोती महल में 8, होटल सेन्ट्रलपार्क में 5, अशोका स्पा में 18, श्री लक्ष्मी पैलेस में 5 कार्मिक शामिल है।  जनपद में विभिन्न विकासखण्डवार मनरेगा कार्याें के अन्तर्गत आतिथि तक 1080 निर्माण कार्य प्रारम्भ किये गये, जिनमें 15861 श्रमिकों को सैनिटाईजेशन एवं सामाजिक दूरी का अनुपालन करवाते हुए उक्त कार्य में योजित कर रोजगार उपलब्ध कराया गया। प्रधानमंत्री जनधन खाताधारकों द्वारा जनपद में विभिन्न बैंकों से 1582 लाभार्थियों द्वारा अपने जनधन खाते से धनराशि की निकासी की गयी।

यह भी पढ़ें: उत्तराखंड कोरोना बुलेटिन: स्वास्थ्य विभाग द्वारा जारी, दोपहर 2 बजे की रिपोर्ट, 41 और कोरोना पॉजिटिव

जनपद में कोरोना वायरस से संक्रमण के प्रसार को रोके जाने के दृष्टिगत सोशल डिस्टेंसिंग रखते हुए निबन्धन कार्यालयों में आज जन सामान्य द्वारा कुल 104 लेख पत्रों का पंजीकरण (रजिस्ट्री) कराई गयी, जिससेे  62.59 लाख  का राजस्व प्राप्त हुआ।  कोविड-19 के संक्रमण के दृष्टिगत जिला आपदा परिचालन केन्द्र देहरादून में जन सहायता हेतु स्थापित कन्ट्रोलरूम में कुल 70 काॅल प्राप्त हुई हैं, जिनमें पास हेतु 63, राशन हेतु 2 एवं 5 अन्य काल प्राप्त हुई।
लाॅक डाउन अवधि में सिविल सोसायटी व शासकीय विभागों द्वारा किये गये उत्कृष्ट कार्यों के दृष्टिगत आज के सिविल सोसायटी से कोरोना वाॅरियर रवि पोखरिया द्वारा लाॅकडाउन अवधि में निराश्रितों एवं निर्धन व्यक्तियों हेतु भोजन पैकेट उपलब्ध कराकर जिला प्र्रशासन को सहयोग किया। वहीँ शासकीय विभाग से कोरोना वाॅरियर सौरव असवाल, उप जिलाधिकारी, विकासनगर देहरादून द्वारा लाॅक डाउन अवधि में दिये गये दायित्वों का कुशल रूप से निर्वहन कर रहे हैं।
जिलाधिकारी डाॅ आशीष कुमार श्रीवास्तव ने अवगत कराया है कोरोना वायरस संक्रमण के दृष्टिगत 157 सैम्पल जाचं हेतु भेजे गये तथा 156 जांच रिपोर्ट प्राप्त हुई, जिनमें 35 व्यक्तियों की रिपोर्ट पाॅजिटिव ( जिनमें 22 व्यक्ति जनपद रूद्रप्रयाग के हैं) आने के फलस्वरूप जनपद में कोरोना पाॅजिटिव संक्रमितों की संख्या 268 हो गई है। जिनमें 44 व्यक्ति स्वस्थ हो गये हैं तथा वर्तमान में 217 व्यक्ति उपचाररत् हैं एवं 3 व्यक्ति अन्य प्रदेश के हैं।
विज्ञप्ति जारी किये जाने तक अन्य राज्यों से आने वाले कुल 157 व्यक्तियों की सैम्पलिंग संकलित की गयी जिनमें, दून अस्पताल में 53, सैन्य अस्पताल में 1,  मैक्स हाॅस्पिटल 1, हिमालयन हाॅस्पिटल में 1, महन्त इन्दिरेश अस्पताल में 32, आशारोड़ी में 9, रायवाला में 3, धर्मावाला में 12, ग्राफिक एरा में 1, माया गु्रप में 44  सैम्पल शामिल हैं। इसके अतिरिक्त 45 व्यक्तियों की रैण्डम सैम्पलिंग की गयी जिसमें महाराणा प्रताप स्पोर्टस कालेज रायपुर में 6, जौलीग्रान्ट एयरपोर्ट में 39 सैम्पल शामिल हैं।

यह भी पढ़ें: उत्तराखंड में एक और कोरोना पॉजिटिव मरीज़ की मौत: मधुमेह, द्विपक्षीय निमोनिया, उच्च रक्तचाप व तीव्र श्वसन संकट से जूझ रहा था मरीज़

जनपद में आंगनबाड़ी कार्यकर्तियों द्वारा 28340 व्यक्तियों की सामुदायिक निगरानी का कार्य किया गया। इसी प्रकार आंगनबाड़ी एवं आशा कार्यकर्तियों द्वारा जनपद में होम क्वारेंटीन किये गये कुल 938 व्यक्तियों की सामुदायिक निगरानी का कार्य किया गया। इसी क्रम में अन्य राज्यों से जनपद में पंहुचे कुल 1315 व्यक्तियों को स्वास्थ्य परीक्षण एवं सैम्पल प्राप्त करने के उपरांत संस्थागत क्वारेंटाइन किया गया। इसके अतिरिक्त आंगनबाड़ी कार्यकर्तियों की 15 टीमों द्वारा जनपद देहरादून अन्तर्गत बनाये गये विभिन्न कन्टेंमेंट जोन में 370 व्यक्तियों की सामुदायिक निगरानी का कार्य किया।
कोरोना वायरस संक्रमण के दृष्टिगत लाॅक डाउन अवधि के दौरान जनपद में बनाये गये 2 राहत शिविरों में ठहरे हुए 47 व्यक्तियों का चिकित्सकों एवं परामर्शदाताओं द्वारा स्वास्थ्य परीक्षण उपरान्त कांउसिलिंग प्रदान की गयी।कोरोना वायरस संक्रमण के दृष्टिगत दिहाड़ी/मजदूरी करने आये 40 श्रमिकों जिन्हे जैन धर्मशाला देहरादून  में बनाये गये राहत शिविर में ठहराया गया है, की साईकेट्रिक सपोर्ट टीम द्वारा रिवाइस्ड कांउसिलिंग की गयी। आज विभिन्न ड्यूटियों में तैनात कार्मिकों को 139 एन-95 मास्क,  2126 ट्रिपल लेयर मास्क, 34 पीपीई किट, 50 वीटीएम वायल, 203 सेनिटाइजर, 195 सर्जिकल गलब्स, 500 एक्सामिनेशन गलब्स वितरित किये गये।

You May Also Like