स्वास्थ सुविधायें बेहतर से बेहतर हो ताकि समाज के अंतिम व्यक्ति तक बेहतर स्वास्थ सुविधायें उपलब्ध हो-जिलाधिकारी रंजना राजगुरू

दीपक जोशी की रिपोर्ट:

बागेश्वर: स्वास्थ सुविधायें बेहतर से बेहतर हो ताकि समाज के अंतिम व्यक्ति तक बेहतर स्वास्थ सुविधायें उपलब्ध हो, ताकि एक स्वास्थ एवं कार्यशील समाज का निर्माण हो सकें। यह बात जिलाधिकारी रंजना राजगुरू ने जिला चिकित्सालय प्रबंध समिति की कलेक्टे्रट सभागार में आयोजित बैठक की अध्यक्षता करते हुए कही। बैठक में विधायक बागेश्वर चन्दन राम दास, अध्यक्ष नगरपालिका परिषद बागेश्वर सुरेश खेतवाल सहित अन्य नामित सदस्य मौजूद रहे। समिति के द्वारा चिकित्सालय के विभिन्न व्यवस्थाओं एवं उपकरणों आदि की जानकारी ली गयी। बैठक में समिति द्वारा चिकित्सालय में आने वाले रोगियों को बेहतर चिकित्सा सुविधा एवं अन्य व्यवस्थाओं के लिए 27 लाख, 29 हजार की धनराशि का अनुमोदन किया गया। जिसमें औषधी, सफाई, भोजन, विद्यत व्यय, वाहन इंधन अनुरंक्षण, व्यवसायिक सेवा मजदूरी, मशीन साज सज्जा व उपकरण, जलकर तथा स्टेशनरी व्यवस्थाओं के लिए धनराशि का अनुमोदन किया गया।

यह भी पढ़ें: PM मोदी ने मुख्यमंत्रियों के साथ COVID-19 रणनीति पर की चर्चा; मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह ने कही यह बातें

जिलाधिकाराी ने विधायक को अवगत कराया कि जनपद में कोरोना वायरस संक्रमण की रोकथाम एव उपचार के लिए जिला प्रशासन द्वारा जिला चिकित्सालय में स्थित ट्रामा सेंटर को कोविंड-19 हेतु तैयार किया गया हैं, जिसमें 17 आइसोलेशन बैंड तथा 06 आईसीयू बैंड तैयार कियें गयें हैं तथा जिला चिकित्सालय में 02 वेंटीलेटरों की व्यवस्था की जा चुकी हैं, तथा एक और वेंटीलेटर के लिए प्रयाास जारी हैं। जनपद में अब तक 750 पीपीई किट, 1007 एन-95 मॉस्क तथा 45 हजार थी्र लेयर मॉस्क वर्तमान में उपलब्ध हैं, तथा इन्हें और बढाने के लिए लगाता प्रयास किया जा रहा हैं। जिलाधिकारी रंजना राजगुरू ने बैठक में मुख्य चिकित्साधिकारी डॉ0 बी0एस0रावत को निर्देशित करते हुए कहा कि चिकित्सालयों में अधिकतम से अधिकतम सुविधायें मरीजों को दी जाय। इसमें किसी प्रकार की लापरवाही न बरती जाय।

यह भी पढ़ें: उत्तराखंड कोरोना स्वास्थ्य बुलेटिन (COVID-19) 27/04/2020, शाम 05:30 की रिपोर्ट

उन्होंने कहा कि बागेश्वर जैसे दूर्गम क्षेत्र में स्वास्थ्य जैसे पहलूओं पर विशेष ध्यान देने की आवश्यकता है। जिलाधिकारी ने मुख्य चिंकित्साधिकारी एवं सीएमएस को निर्देश दियें कि वर्तमान में कोरोना संक्रमण पूरे देश में महामारी के रूप में परिलक्षित हो रहा हैं, इसके रोकथाम, नियंत्रण एव उपचार के लिए जो भी व्यवस्थायें एवं उपकरण क्रय कियें जाने हैं, उन्हें तत्काल क्रय करना सुनिश्चित करें। जिससे की कोरोना संक्रमण को फैलने से रोका जा सकें। इसमें धन की कमी को आडे नही दिया जायेंगा। इसी क्रम में जिलाधिकारी द्वारा चिकित्सालय में सभी सुविधायें उपलब्ध हों इसके लिए उन्होंने बैठक के दौरान 05 लाख की धनराशि अनटाइड फंड से जिला चिकित्सालय को उपलब्ध करायी जाने की संस्तुति दी। जिससे कि चिकित्सालय में आने वाले मरीजों को बेहतर से बेहतर स्वास्थ सुविधा उपलब्ध हो सकें। उन्होंने मुख्य चिकित्साधीक्षक को भी निर्देश जारी करते हुए कहा कि चिकित्सालय की सफाई व्यवस्था को निरंतर दूरूस्त रखें। उन्होंने कहा कि रोगियों का उपचार चिकित्सक पूर्ण मनोयोग के साथ करें और उन्हें बेहतर से बेहतर सुविधायें देने का प्रयास करें। साथ ही यह भी सुनिश्चित करें। मरीजों को मीनू के अनुसार गुणवत्तापरक भोजन उपलब्ध हों। बैठक में विधायक बागेश्वर चंदन राम दास ने कहा कि जनपद के एक मात्र जिला चिकित्सालय अस्पताल में बेहतर से बेहतर सुविधायें उपलब्ध कराने के लिए वह भी प्रतिबद्ध है जिसके लिए उन्होंने जिला अस्पताल के विभिन्न अनुभागों हेतु सामान/उपकरण क्रय करने के लिए विधायक निधि से 05 लाख की धनराशि देने की घोषणा की।

यह भी पढ़ें: भगवान केदारनाथ की डोली आज गौरीकुण्ड से रवाना होकर पहुंची लिंचोली

उल्लेखनीय हैं कि कोरोना वायरस संक्रमण के बचाव एवं रोकथाम के दृष्टिगत विधायक बागेश्वर द्वारा पूर्व में भी 05 लाख की धनराशि जिला अस्पताल को दी जा चुकी हैं। इस प्रकार अब तक विधायक द्वारा कुल 10 लाख की धनराशि कोरोना वायरस संक्रमण के बचाव हेतु दी जा चुकी हैं। उन्होंने इस बात पर भी बल दिया कि जिला अस्पताल में साफ-सफाई व भोजन की गुणवत्ता पर विशेष ध्यान देने की आवश्यकता है जिससे चिकित्सालय में आने वाले मरीजों को एक बेहतर सुविधा मिल सकें। जिलाधिकारी ने  विधायक द्वारा जिला अस्पताल के लिए दी गयी धनराशि के लिए आभार व्यक्त किया। बैठक में अध्यक्ष नगर पालिका बागेश्वर सुरेश खेतलवाल, सांसद प्रतिनिधि महेश पंत, मुख्य चिकित्साधिकारी डॉ0 बी0एस0रावत मुख्य चिकित्सा अधीक्षक एस0पी0त्रिपाठी, वरिष्ठ कोषाधिकारी पूरन चन्द्र उप्रेती सहित संबंधित अधिकारी एवं कर्मचारी उपस्थित रहें।

यह भी पढ़ें: शिक्षा मंत्री डॉ रमेश पोखरियाल निशंक ने बताया कब होंगे बोर्ड एग्जाम, जानिए क्या कुछ कहा उन्होने

You May Also Like