2 मरीज़ों की दून मेडिकल कॉलेज में हुई मोत, मोत कोरोना से या किसी अन्य वजह से, यह पता लगना बाकि

देहरादून:  कल रात को दून मेडिकल कॉलेज में 2 मरीज़ों की मौत हुए है जिनकी अभी कोरोना पॉजिटिव की रिपोर्ट आना बाकी है। इनमें 23 वर्षीय एक युवक है जिससे मंगलवार दोपहर कोरोनेशन अस्पताल से दून मेडिकल कॉलेज बड़ी क्रिटिकल कंडीशन में रेफर किया गया था। उसे बदन दर् व बार बार चक्कर आने की शिकायत थी और अस्पताल में उसे आइसीयू में रखा गया था। यह युवक मूल रूप से नैनीताल ज़िले का रहने वाला है और दून में एक प्राइवेट स्कूल में खाना बनाने का काम करता था।

पढ़ें:छोटे व मध्यम उद्योगों में आर्थिक प्रोत्साहन पैकेज में क्या कवर होना चाहिए, राहुल गाँधी ने मांगे सुझाव

इसके अलावा सोमवार को एक 65 वर्षीय बुजुर्ग को दून मेडिकल कॉलेज में भर्ती किए गए था। उनको भी क्रिटिकल कंडीशन में दून मेडिकल कॉलेज रेफेर किया गया था और जिन्हे सांस की तकलीफ थी। 21 मार्च को वह दुबई अपने बेटे के पास से लौटे थे और दिल्ली में  14 दिन के लिए क्वारंटाइन में रहे गये थे जहां उनकी जांच रिपोर्ट नेगेटिव आई थी। उसके बाद यह सात मार्च को देहरादून पहुंचे जहाँ उन्हे होम क्वारंटाइन किया गया था। उन्हें अस्थमा की दिक्कत थी। वह मूल रूप से पिथौरागढ़ ज़िले के रहने वाले हैं और दून में पंडितवाड़ी क्षेत्र में रहते थे। इन दोनों का सैंपल कोरोना जांच के लिए भेजा गया है। रिपोर्ट आने के बाद ही इनके शवों को परिजनों के सुपुर्द किए जाएंगे।

हालाँकि इस बात कि पुष्टि अभी तक नहीं हुई है की इन दोनों की मोत कोरोना से या किसी अन्य वजह से हुई है। यह उनकी रिपोर्ट आने के बाद ही पता चल सकेगा।

पढ़ें: दक्षिण कश्मीर के शोपियां जिले में 4 आतंकवादी ढेर

You May Also Like