कोरोना के चलते वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने की 1 लाख 70 हजार करोड़ के आर्थिक पैकेज की घोषणा

नई दिल्ली: कोरोना वायरस से लड़ने के लिए मोदी सरकार ने बड़ा ऐलान किया है। सरकार ने 1 लाख 70 हजार करोड़ के राहत पैकेज की घोषणा की है। इसके साथ ही कोरोना से लड़ रहे कर्मचारियों का 50 लाख का मेडिकल बीमा करने की घोषणा भी की है। वित्तमंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा कि प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना के तहत 80 करोड़ लोगों के लिए सुनिश्चित किया जाएगा कि कोई भी भूखा न रहे। हर व्यक्ति को 5 किलो गेंहू और 5 किलो चावल अगले तीन महीने तक अतिरिक्त दिया जाएगा। इसके साथ ही क्षेत्र के हिसाब से 1 किलो दाल को भी दिया जाएगा।

वित्तमंत्री ने किसानों को लेकर भी बड़ी घोषणाएं की है। उन्होंने कहा कि अप्रैल के पहले हफ्ते में ही उनके खातों में 2 हजार की क़िस्त डाल दी जाएगी। 8 करोड़ 70 लाख किसानों को इसका लाभ मिलेगा। मनरेगा के मजदूरों को मिलने वाली राशि को भी बढ़ाया जाएगा। इससे देश के पांच करोड़ परिवार को लाभ मिलेगा जिससे हर मजदूर को 2 हजार रुपए ज्यादा का लाभ मिलेगा।

गरीब सीनियर सिटीजन, दिव्यांग लोगों को एक बार 1 हजार रुपए दिए जाएंगे, यह राशि उन्हें तीन महीने में दी जाएगी। इसका लाभ 3 करोड़ गरीब बुजुर्गों, विधवा और दिव्यांगों को मिलेगा। 20 करोड़ महिलाएं जिन्होंने जन धन खाता खोला हुआ है उनके भी खातून में अगले तीन महीने तक 500-500 रुपए की राशि जमा की जाएगी। उज्जवला स्कीम का लाभ लेने वाली महिलाओं को भी अगले तीन महीने तक  3 घरेलू गैस सिलेंडर दिया जाएगा। इसका लाभ 8.2 करोड़ बीपीएल परिवारों को मिलेगा।

संगठित क्षेत्र और पीएम गरीब कल्याण योजना के अंतर्गत आने वाले लोगों के लिए अगले तीन महीने तक ईपीएफ का हिस्सा भारत सरकार द्वारा दिया जाएगा जिसमे 24 फीसदी हिस्सा ईपीएफ अकाउंट में भारत सरकार द्वारा जमा किया जाएगा। यह उन प्रतिष्ठान के लिए है जहां कर्मचारियों की संख्या 100 तक है और वहां 90 फीसदी कर्मचारियों की सैलेरी 15 हजार रुपए से कम है।

ईपीएफओ स्कीम के तहत सरकार नियमों में संशोधन करने जा रही है जिससे कर्मचारी अपने अप्रतिदेय निधि में से 75 फीसदी या फिर तीन महीने की तनख्वाह दोनों में से जो भी कम हो उतनी राशि निकाल सकते हैं।

WATCH: Finance Minister Nirmala Sitharaman addresses the media in Delhi https://t.co/SvDinw5db0

— ANI (@ANI) March 26, 2020

You May Also Like