सावधान: लोन के नाम पर दून में हो रही है ठगी, जानिए पूरा मामला

देहरादून: बैंको मे फर्जी दस्तावेज जमा कर वाहन ऋण के नाम पर लगभग 32 लाख रूपये की धोखाधडी करने वाला फर्म के डायरेक्टर को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया गया है ये मामला बसंत विहार थाने का है,जिसमें स्टेट बैंक ऑफ इण्डिया के अधिकृत एडवोकेट विजय भूषण पाण्डेय की तहरीर पर धोखाधडी करने सम्बन्ध मे 6 मुकदमें पंजीकृत कराये गए थे।

विवेचना में विजय भूषण ने आरोपी कृपाल सिंह पर विभिन्न बैंको के दस्तावेजो के परीक्षण तथा साक्ष्यों के आधार पर स्वयं को शुभ प्रीमियर कार डीलरशिप का डायरेक्टर बताकर अपने परीचितों को कार फाईनेन्स कराने के नाम पर उनकी आई0डी0 व अन्य आवश्यक दस्तावेज प्राप्त कर वाहन की फर्जी कोटेशन बनाकर स्टेट बैंक ऑफ इण्डियां की विभिन्न शाखाओं से लोन प्राप्त कर बडे स्तर की धोखाधडी का आरोप लगाया है।

आपको बता दें कि शुभ प्रीमियर कम्पनी का डायरेक्टर आरोपी कृपाल सिंह काफी समय से फरार चल रहा था। अभियुक्त की गिरफ्तारी के लिए थानाध्यक्ष बसंत विहार ने एक टीम गठित की, जिसके द्वारा अभियुक्त कृपाल सिंह को दून के नेहरू कालोनी क्षेत्र से गिरफ्तार किया गया, पूछताछ मे अभियुक्त ने अपने अन्य साथियों के बारे मे भी जानकारी दी जिनके सन्दर्भ में पुलिस द्वारा जानकारी प्राप्त की जा रही है।

अपराध करने का तरीका –

 अभियुक्त द्वारा शुभ प्रीमियर नाम की एक फर्जी कम्पनी बनाकर लोगो से साठगाठ कर कार लोन दिलाने के नाम पर फर्जी इनवॉयस, पॉलिसी व सर्टिफिकेट जारी कर विभिन्न बैंको से प्राप्त की गयी कार लोन की धनराशि तकरीबन 32 लाख रुपये की धनराशि हडप लेना ।

You May Also Like