ईरान ने अमेरिकी सैनिक ठिकानों पर दागी कई मिसाइलें, ट्रंप बोले- कल दूंगा जवाब

बगदाद: ईरान ने इराक में अमेरिका के दो सैनिक ठिकानों पर एक दर्जन से ज्‍यादा मिसाइलें दागी हैं। पिछले हफ्ते बगदाद हवाईअड्डे पर अमेरिका ने ड्रोन स्‍ट्राइक में ईरानी कमांडर जनरल कासिम सुलेमानी को मार गिराया था, जिसके बाद ईरान ने अमेरिका से बदला लेने की धमकी दी थी। धमकी पर अमेरिकी राष्‍ट्रपति ने बयान जारी कर हिदायत दी थी कि, ईरान के 52 सांस्‍कृतिक धरोहरें उसके निशाने पर हैं।

जानकारी के मुताबिक, ईरान ने इरबिल और अल असद इलाके में मौजूद उस एयरबेस को निशाना बनाया जहां अमेरिकी सेना और उसके सहयोगी बल ठहरे हुए हैं। ईरानी मीडिया के हवाले से समाचार एजेंसी एएनआइ ने कहा है कि, ईरान के ताजा मिसाइल हमलों में 80 लोगों की मौत हुई है। दूसरी ओर इराकी सेना ने कहा है कि हमले में कोई भी हताहत नहीं हुआ है।

इस बीच ईरान के सुप्रीम लीडर अयातुल्लाह अली खामेनेई ने कहा है कि अमेरिका, इजराइल और पश्चिम का घमंडी सिस्‍टम ईरान का दुश्‍मन है। ईरान की यह सैन्‍य कार्रवाई अमेरिका के मुंह पर करारा तमाचा है। वहीँ इराक में लड़ रहे ईरानी रिवोल्‍यूशनरी गार्ड ने अमेरिकी बलों को क्षेत्र से वापस जाने के लिए कहा है।

वहीँ अमेरिकी राष्‍ट्रपति ट्रंप ने अमेरिकी बलों के ठिकाने पर हुए ताजा हमले पर दुख जताया है। अमेरिकी राष्‍ट्रपति ट्रंप ने कहा है कि सब ठीक है… ईरान ने इराक में दो सैन्‍य ठिकानों पर मिसाइल हमले किए हैं। हमले में हताहतों की संख्‍या का आकलन किया जा रहा है। हमारे पास दुनिया की सबसे ताकतवर सेना है। मैं कल सुबह बयान दूंगा।

ईरानी विदेश मंत्री मोहम्मद जावेद जरीफ ने अमेरिकी बलों पर किए गए ताजा हमले को आत्मरक्षा में उठाया गया कदम बताते हुए कहा है कि इससे कासिम सुलेमानी की हत्या का बदला पूरा हो गया है। उन्‍होंने यह भी कहा कि हम तनाव बढ़ाना या युद्ध नहीं चाहते हैं लेकिन किसी भी हमले से अपनी रक्षा जरूर करेंगे। हम आत्‍मरक्षा के अंतरराष्‍ट्रीय कानूनों पर अमल करेंगे।

You May Also Like