रेखा आर्या बोलीं- CAA सताए हुए लोगों के हित के लिए, आजादी के तुरंत बाद ही होना चाहिए था लागू

बागेश्वर: महिला कल्याण एवं बाल विकास राज्यमंत्री रेखा आर्या ने कहा कि, नागरिकता संशोधन अधिनियम सताए हुए लोगों के हित के लिए है। बाहरी देशों में जिन लोगों से अच्छा व्यवहार नहीं होता, उनको नागरिकता देने के लिए यह कानून बनाया गया है। नागिरकता संशोधन अधिनियम पर बागेश्वर में पत्रकारों से वार्ता करते हुए उन्होंने कहा कि भाजपा का विरोध कर रहे राजनैतिक दल सत्ता से बाहर रहने के कारण आज हताशा और बौखलाहट में हैं और सरकार की राह में बाधा डालकर आम लोगों को गुमराह कर रही है, जिससे राष्ट्र का विकास भी बाधित हो रहा है।

रेखा आर्या ने कहा कि, इस कानून को आजादी के बाद तुरंत लागू हो जाना चाहिए था, लेकिन ऐसा नहीं हो सका। अब देश के प्रधानमंत्री मोदी ने साहसिक कदम उठाकर इस कानून को लागू करवाया। उन्होंने कहा कि, कांग्रेस देश को विभाजित करने का काम कर रही है। उन्होंने कहा कि कुछ लोग देश की शांति भी बिगाड़ रहे हैं। उन्होंने कहा कि सताए लोगों को शरण देना भारत की संस्कृति रही है और सीएए कानून लोगों को नागरिकता देने वाला है।

You May Also Like