उत्तराखंड: यहाँ पहली बार महिला चीता का गठन, अब मनचलों की खैर नहीं..

बागेश्वर: बागेश्वर नवआगंतुक पुलिस अधीक्षक रचिता जुयाल ने जिले की जिम्मेदारी संभालते ही महिलाओं सुरक्षा की पहल शुरू कर दी है। कोतवाली में पहली बार महिला चीता का गठन किया गया है। यह टीम उन स्थानों पर अधिक गश्त करेगी, जहां महिलाओं और छात्राओं की आवाजाही अधिक होती है। डिग्री कॉलेजकॉलेज और कोचिंग इंस्टीट्यटों के बाहर छात्राओं पर फब्तियां कसने वालों पर टीम कड़ी नजर रखेगी। इस तरह की हरकत करने वालों के खिलाफ कार्रवाई भी होगी।
वहीँ एसपी ने कहा जिले में पहले से ही महिला हेल्पलाइन काम कर रही है। इसे और अधिक मजबूत करने के लिए कोतवाली में महिला चीता यूनिट का गठन किया गया है। भविष्य में इसे अन्य थानों में भी गठित किया जाएगा। यह टीम उन स्थानों पर अधिक गश्त करेगी जहां महिलाओं की आवाजाही अधिक होती है। इसमें जिला अस्पतालडिग्री कॉलेजकॉलेज और कोचिंग इंस्टीट्यूट मुख्य होंगे। घरेलू हिंसा से लेकर समाज में महिलाओं पर होने वाले अपराध रोकने में यह टीम काफी कारगर साबित होगी। शिकायत के बाद टीम जांच करेगी। यदि मामला संगीन होगा तो मुकदमा दर्ज किया जाएगा।

You May Also Like