उत्तराखंड: दुपट्टे से फांसी लगाकर युवती ने की आत्महत्या, पिता ने चार युवकों को ठहराया जिम्मेदार

चंपावत: चंपावत जिले के बाराकोट ब्लॉक की युवती ने जीआईसी कॉलेज भवन के पीछे पेड़ पर फंदे पर लटक कर खुदकुशी कर ली। युवती शनिवार सुबह अपने माता-पिता और छोटी बहन के साथ बालाजी से नायकगोठ स्थित अपने ननिहाल लौटी थी। ननिहाल पहुंचने के कुछ देर बाद घर से अचानक लापता हो गई थी। पुलिस ने मृतका का पोस्टमार्टम करा शव परिजनों को सौंप दिया है।

इधर, युवती के पिता ने चंपावत और टनकपुर के चार युवकों को बेटी की मौत के लिए जिम्मेदार ठहराते हुए उनके खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कराने की बात कही है। पुलिस मामले की छानबीन में जुट गई है। पोस्टमार्टम में आत्महत्या की पुष्टि हुई है। बाराकोट के काकड़ गांव निवासी लोकमान सिंह अधिकारी की बड़ी पुत्री शिवांगी (21) शनिवार सुबह करीब सात बजे नायकगोठ स्थित अपने ननिहाल से अचानक गायब हो गई। काफी खोजने पर भी जब वो नहीं मिली तो पिता ने सुबह नौ बजे कोतवाली में बेटी की गुमशुदगी की लिखित सूचना दी।

इस बीच जीआईसी भवन के पीछे मैदान में खेल रहे बच्चों ने जीआईसी की चाहरदीवारी के अंदर युवती को पेड़ पर फंदे पर लटका देखा तो फौरन पुलिस को सूचना दी गई। पुलिस लापता शिवांगी के पिता को लेकर मौके पर पहुंची तो वहां शिवांगी अपने ही दुपट्टे के फंदे पर लटकी थी। पता चलते ही मां आनंदी देवी, छोटी बहन हिमानी और रिश्तेदार भी घटना स्थल पर पहुंचे।

You May Also Like