पाकिस्तान में संदिग्ध परिस्थितियों में हिन्दू छात्रा की मौत, उठे सवाल

पाकिस्तान के लरकाना में मेडिकल की पढ़ाई कर रही एक हिंदू छात्रा की संदिग्ध परिस्थितियों में मौत होने का मामला सामने आया है। लरकाना के बीबी आसिफा डेंटल कॉलेज में नम्रिता चंदानी का शव उसके हॉस्टल के कमरे में चारपाई से बंधा हुआ पाया गया। हादसे को  लेकर पुलिस का कहना है कि अभी इसे आत्महत्या या हत्या कुछ भी कहना जल्दबाजी होगा।

हालांकि ट्विटर पर इस पूरे मामले को जबरन धर्मांतरण और अल्पसंख्यक उत्पीड़न की घटनाओं से भी जोड़ा जा रहा है। नम्रिता के भाई डॉ. विशाल सुंदर ने भी इस मामले को एक तरह से अल्पसंख्यक उत्पीड़न बताया है । उन्होंने कहा, ‘उसके शव पर कई जगहों पर चोट के निशान हैं। ऐसा लगता है कि जैसे जबरन पकड़ रखा हो। ‘’हम अल्पसंख्यक हैं और प्लीज हमारी मदद के लिए खड़े हों।’’

पाकिस्तान के ही तमाम ट्विटर यूजर्स ने इस घटना पर सवाल खड़े करते हुए कहा है कि, यह आत्महत्या  नहीं बल्कि हत्या  है, जिसकी जांच होनी चाहिए।

नम्रिता सिंध घोटकी जिले की रहने वाली थीं, जहां हाल ही में हिंदू मंदिरों को तोड़े जाने की घटनाएं हुई थीं। सोमवार को जब उनके साथ पढ़ने वाले छात्र उसके कमरे में पहुंचे तो दरवाजा अंदर से बंद था और कई बार खटखटाने के बाद भी जब कोई उत्तर नहीं मिला तो गार्ड ने दरवाजे को तोड़ा। अंदर जाकर देखा तो नम्रिता की लाश चारपाई पर पड़ी थी और उनकी गर्दन पर एक रस्सी कसी हुई थी।

You May Also Like