मसूरी: कई बूथ मानकों से बाहर, फिर भी बने अति-संवेदनशील, आयोग को भेजी जाएगी रिपोर्ट

मसूरी: लोकसभा चुनाव को देखते हुए मसूरी पुलिस ने सभी संवेदनशील और अति-संवेदनशील बूथों का निरीक्षण किया। वहीं आस-पास के लोगों से चुनाव से संबंधित जानकारी ली गई। निरिक्षण के दौरान मसूरी पुलिस ने पाया कि, मसूरी में कई अति-संवेदनशील बूथ बनाए गए हैं, जो अति-संवेदनशील मानकों के तहत आते ही नहीं है। ऐसे में पुलिस द्वारा रिपोर्ट तैयार कर निर्वाचन आयोग को भेजी जायेगी और मांग की जायेगी कि, मानकों के अनुरूप ना आने वाले अति-संवेदनशील बूथों को संवेदनशील बूथ बनाया जाये।
मसूरी कोतवाल भावना कैन्थोंला ने स्थानीय लोगों के साथ बैठक की और उनको लोकसभा चुनाव में सहयोग करने की अपील के साथ लोगों को ज्यादा-से-ज्यादा संख्या में अपने मतों का प्रयोग करने का आह्वान किया। मसूरी कोतवाल ने बताया कि, लोकसभा चुनाव के मद्देनजर मसूरी क्षेत्र में आने वाले सभी पोलिंग बूथों का निरीक्षण किया जा रहा है, जिसके तहत आज मसूरी लंढोर क्षेत्र के सनातन धर्म इंटर कालेज के अति-संवेदनशील बूथ का निरीक्षण किया गया और आस-पास के लोगों से वार्ता कर उनसे  चुनाव में सहयोग करने की अपील की गई।
उन्होंने कहा कि मसूरी में कई ऐसे क्षेत्र हैं जहां पर कई समुदाय के लोग रहते हैं और एक ही पोलिंग बूथ पर अपने मत का प्रयोग करते हैं। ऐसे बूथों को अति-संवेदनशील की श्रेणी में रखा गया है।
मसूरी व्यापार मंडल के कोषाध्यक्ष जगजीत कुकरेजा ने पुलिस द्वारा लोकसभा चुनाव को लेकर चलाये जा रहे जागरूकता अभियान की सहराहना की और कहा कि मसूरी में सभी चुनाव शांतिपूर्वक तरीके से हुए है। ऐसे में उनको उम्मीद है कि लोकसभा का चुनाव शांतिपूर्वक तरीके से संपन्न कराया जायेगा।

You May Also Like