पकिस्तानी जासूस निकला जैसलमेर का ‘नवाब’, आईएसआई को भेजता था जानकारी

जयपुर: पाक सीमा से सटे राजस्थान के जैसलमेर में पकड़े गए पाकिस्तानी जासूस नवाब खां ने इंटेलिजेंस एजेंसियों की पूछताछ में कई अहम खुलासे किए है। नवाब खां ने बताया कि आईएसआई को वह लगातार पश्चिमी सीमा से जुड़ी जानकारी देता था। प्रत्येक सूचना के बदले उसे पांच हजार रूपए मिलते थे।

जैसलमेर जिले के सम क्षेत्र में गांगा बस्ती निवासी नवाब खां पुत्र मठार खां पिछले साल पाकिस्तान गया था और वहां आईएसआई के कैंप में एक माह तक ट्रेनिंग लेकर आया था। नवाब खां का पाक में रह रहा रिश्तेदार सुमार खां भी आईएसआई का एजेंट है। सुमार खां के माध्यम से ही नवाब खां आईएसआई से जुड़ा और भारतीय सेना के बारे में खुफिया जानकारी मुहैया कराने लगा।

सम क्षेत्र के रेतीले धोरों में पर्यटकों को जीप की सफारी कराने के बहाने नवाब खां सैन्य क्षेत्रों के बारे में जानकारी जुटाने का प्रयास करता था। इंटेलिजेंस एजेंसियों की उस पर पिछले तीन माह से नजर थी और उसे रविवार को गिरफ्तार कर लिया गया। सोमवार और मंगलवार को नवाब खां को जयपुर लाकर पूछताछ की गई तो कई अहम खुलासे हुए। इंटेलिजेंस एजेंसियों के अफसर फिलहाल नवाब खां से पूछताछ में जुटे है।

You May Also Like