सेक्स रैकेट का पर्दाफाश, पति-पत्नी समेत 5 गिरफ्तार

देहरादून: देहरादून की सहसपुर पुलिस ने रविवार को देह व्यापार करने वाले गिरोह का पर्दाफाश किया है। पुलिस ने इस आरोप में 5 आरोपियों को गिरफ्तार किया है,साथ ही 2 महिलाओं को मुक्त कराया है।

 मामले के अनुसार, राजारोड स्थित एक घर में हरियाणा के पति-पत्नी किराये पर रहते थे। पुलिस को जानकारी मिली कि पति-पत्नी द्वारा किराये के घर पर देह व्यापार का धंधा चलाया जाता है। पुलिस के मुताबिक पति पत्नी लड़कियों को घर लाकर उनसे देह व्यपार का धंधा करा रहे थे।  वही जब पुलिस को मामले की जानकारी मिली तो मामले को लेकर वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक को अवगत कराया गया। इस दौरान वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक ने ट्रैफिकिंग एवं पुलिस टीम का संयुक्त रूप से गठन कर मामले की छानबीन के निर्देश दिए। जिसके बाद पर्यवेक्षण एवं क्षेत्राधिकारी विकासनगर के निकट निर्देशन में एन्टी ह्यूमेन ट्रैफिकिंग एवम पुलिस टीम का संयुक्त रूप से गठन कर पुलिस टीम द्वारा उक्त घर पर दबिश दी गई। इस दौरान उक्त घर पर दीपक नामक व्यक्ति अपनी पत्नी प्रिया के साथ उक्त किराये के मकान में अनैतिक देह व्यापार का धंधा संचालित कराते हुए पाए गए। इस दौरान पुलिस को घर में अलग-अलग कमरे से 3 ग्राहक अभियुक्त एवं 2 पीड़ित महिला के साथ आपत्तिजनक स्थिति में पाए गए, जिस पर उक्त दोनों दम्पति सहित 5 अभियुक्तों को अन्तर्गत धारा 3/5/8 अनैतिक देह व्यापार अधिनियम एवम 370 भादवि में गिरफ्तार किया गया।

पुलिस द्वारा मुक्त कराई गई दोनों महिलाओं में एक मुरादाबाद जबकि दूसरी महिला सहारनपुर, उत्तर प्रदेश की बताई जा रही है। मामले को लेकर दोनों युवतियों ने बताया कि वह यहां सेलाकुई में 1 माह पहले फैक्ट्री में काम करने के लिए आई थी औऱ सहारनपुर निवासी युवती द्वारा बताया गया कि वह लगभग 2 माह पहले सेलाकुई आई थी। उन्होंने बताया कि वो दोनों दीपक के संपर्क में आ गई और दीपक द्वारा इनको अपने घर ले जाया गया और वहां पर अपनी पत्नी प्रिया से मिलवाया। वहां पर और भी लड़किया थी जो दिल्ली , चंडीगढ़ आदि की रहने वाली थी। फिर इन दोनों पति-पत्नी द्वारा इसको काम के बदले अच्छा पैसा देने का लालच दिया गया, जिस पर यह लालच में आ गई लेकिन  इन दोनों पति-पत्नी द्वारा काम के बदले पैसे नही दिए गए और जब इसने वापस जाने के लिए बोला तो उनको जबरदस्ती रोककर ये सब काम कराया और उसको पैसे भी नहीं दिए। उन्होंने बताया कि बाकी लडकियां काम करके आती जाती रही। जिस पर बाद आवश्यक कार्यवाही उक्त  पीड़िता को उनके परिजनों के सुपुर्द किया जाएगा। उक्त घर के स्वामी द्वारा किरायेदारों का सत्यापन नहीं कराया गया है, जिस पर मकान स्वामी के विरुद्ध भी पुलिस अधिनियम में विधिक कार्यवाही की जा रही है। वहीं मामले को लेकर अभी पुलिस आगे की छानबीन कर रही है।

You May Also Like