Oops! It appears that you have disabled your Javascript. In order for you to see this page as it is meant to appear, we ask that you please re-enable your Javascript!

उत्तराखंड: बिजली की खराब आपूर्ति पर दो एसई समेत सात अभियंताओं पर गिरी गाज

देहरादून: प्रदेश में बिजली आपूर्ति भली प्रकार से नही होने पर ऊर्जा निगम के अधिकारियों पर गाज गिरी है। बता दें कि देहरादून, हरिद्वार, ऊधमसिंह नगर और हल्द्वानी में बिजली की खराब आपूर्ति के चलते ऊर्जा सचिव राधिका झा ने दो अधीक्षण अभियंताओं (एसई), चार अधिशासी अभियंताओं और एक उपखंड अधिकारी को तत्काल प्रभाव से स्थानांतरित करने के निर्देश दिए।

बता दें कि इन क्षेत्रों में विद्युत आपूर्ति से जुड़े व पांच वर्ष से अधिक समय से कार्यरत अवर अभियंताओं और उपखंड अधिकारियों को भी तीन दिन में हटाया जाएगा। लाइनमैन को सात दिन और लेखाकारों को भी 10 अगस्त तक स्थानांतरित करने के निर्देश दिए गए हैं। विद्युत सेवा में ढिलाई बरतने वाले कार्मिकों की वार्षिक गोपनीय आख्या में प्रतिकूल प्रविष्टि दर्ज की जाएगी।

खराब बिजली आपूर्ति को लेकर सख्त हिदायत के बावजूद ऊर्जा निगम के अधिकारी बाज नहीं आए। देहरादून समेत प्रदेश के विभिन्न क्षेत्रों में बिजली की लचर आपूर्ति को देखकर ऊर्जा सचिव राधिका झा बिफर गईं। बुधवार को ऊर्जा भवन परिसर के कॉन्फ्रेंस रूम में ऊर्जा निगम में बिजली आपूर्ति, राजस्व वसूली और बिजली चोरी की जांच की समीक्षा के दौरान देहरादून जिले, औद्योगिक क्षेत्र हरिद्वार, ऊधमसिंहनगर एवं हल्द्वानी में बिजली आपूर्ति की खराब व्यवस्था के लिए सचिव ने संबंधित अधिकारियों को फटकार लगाई। उन्होंने विद्युत वितरण मंडल रुड़की के अधीक्षण अभियंता अमित शर्मा, विद्युत वितरण मंडल हल्द्वानी के अधीक्षण अभियंता शेखरचंद त्रिपाठी, विद्युत वितरण खंड सिडकुल हरिद्वार के अधिशासी अभियंता युद्धवीर सिंह तोमर, विद्युत वितरण खंड मोहनपुर के अधिशासी अभियंता मोहन मित्तल, विद्युत वितरण खंड-नगरीय रुड़की के अधिशासी अभियंता अनूप सैनी, विद्युत वितरण खंड उत्तर, देहरादून के अधिशासी अभियंता विजय कुमार सिंह और विद्युत वितरण उपखंड सिडकुल हरिद्वार के उपखंड अधिकारी शशिकांत को तत्काल प्रभाव से स्थानांतरित करने के आदेश प्रबंध निदेशक को दिए।

You May Also Like