Oops! It appears that you have disabled your Javascript. In order for you to see this page as it is meant to appear, we ask that you please re-enable your Javascript!

संयुक्त राष्ट्र में कश्मीर पर 55 साल बाद बैठक, पाक की शिकायत पर चीन ने की चर्चा की मांग

न्यूयॉर्क: जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 को हटाए जाने के भारत के फैसले पर संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद (यूएनएससी) में आज चर्चा होगी। यूएनएससी की अध्यक्ष जोआना रोनेका ने बुधवार को बताया था कि भारत द्वारा जम्मू-कश्मीर से विशेष दर्जा वापस लिए जाने के बाद चीन ने इस सत्र को कराने के लिए औपचारिक निवेदन किया। बता दें कि, चीन सुरक्षा परिषद का स्थायी सदस्य है।

रोनेका ने बुधवार को बताया कि यदि परिषद के सभी सदस्य मौजूद रहते हैं तो सत्र शुक्रवार यानी 16 अगस्त को बुलाया जा सकता है। इससे पहले पाक विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी ने यूएन को पत्र लिखकर भारत के कश्मीर को लेकर लिए गए निर्णय पर तत्काल एक सत्र बुलाने का अनुरोध किया था। चीन ने पाक का साथ देते हुए इस मामले पर गुप्त बैठक की बात कही।

यह एक अनौपचारिक बैठक होगी, जिसका ना ही कोई रिकॉर्ड रखा जाएगा और न ही उसमें दिए गए किसी बयान को रिकॉर्ड किया जाएगा। यह ऐसी बैठक होगी जिसमें न ही पाकिस्तान की कोई नुमाइंदगी होगी और न ही भारत की ओर से कोई नुमाइंदा शामिल होगा।

इससे पहले यूएन में कश्मीर पर 55 साल पहले चर्चा हुई थी। यूएन रिकॉर्ड्स के मुताबिक, सुरक्षा परिषद ने पिछली बार जम्मू कश्मीर मुद्दे पर 1964 में चर्चा की थी। 16 जनवरी 1964 के एक पत्र में यूएन में पाक के प्रतिनिधि ने कश्मीर पर तत्काल बैठक बुलाने के लिए कहा था। इसमें भी कश्मीर के विशेष दर्जे को लेकर ही शिकायत की गई थी।

पाकिस्तान कश्मीर मुद्दे को सभी अंतरराष्ट्रीय मंचों पर उठाने की लगातार कोशिश करता रहा है। वहीँ भारत ने स्पष्ट किया कि यह उसका आंतरिक मामला है और उसने किसी भी अंतरराष्ट्रीय सीमाओं का उल्लंघन नहीं किया है।

You May Also Like