Oops! It appears that you have disabled your Javascript. In order for you to see this page as it is meant to appear, we ask that you please re-enable your Javascript!

मिनी इंडस्ट्रियल एरिया भटवाडीसैंण में हुआ जमीन फर्जीवाड़े का बड़ा खुलासा

रुद्रप्रयाग: रुद्रप्रयाग के मिनी इंडस्ट्रियल एरिया भटवाडीसैंण में जमीन का बड़ा फर्जीवाडा सामने आया है। यहां अधिकारियों की मिली भगत से औद्योगिक इकाई स्थापित करने के नाम पर आवंटित भू खण्डों पर आवासीय भवन बना दिये गये हैं और अब अधिकारी अपनी खामियों को छुपाने के लिए नोटिस जारी करने व ध्वस्तीकरण की बात कर रहे हैं। वहीं भूखण्डों की चारदीवारी न होने से यहां अवैध अतिक्रमण भी होने लग गये हैं।

दरअसल, रुद्रप्रयाग जनपद में उद्योगों को बढ़ावा देने के लिए भटवाडीसैंण में मिनी इंडस्ट्रियल एरिया स्थापित किया गया। यहां पर कुल 5 हजार 1 सौ 87 हैक्टेयर भूमि को अधिगृहित कर 50 प्लाटों में बदला गया। विभाग ने औद्योगिक इकाइयों को स्थापित करने के लिए 40 भू-खण्ड 11 इकाइयों को आवंटित भी किये मगर वर्तमान में यहां महज 6 इकाइयां ही संचालित हैं। वहीं कई भू-खण्ड स्वामियों द्वारा यहां इकाई स्थापित न करते हुए अपने लिए आवासीय भवन बना डाले और व्यवसायिक गतिविधियों के बजाय आवासीय गतिविधियां संचालित कर रहे हैं। इधर विभाग की अनदेखी के चलते सरकारी जमीनों पर अब अवैध अतिक्रमण भी होने लग गया है जिससे इंडस्ट्रियल ऐरिया रिहायशी ऐरिया में तब्दील होता दिख रहा है। चार प्लाटों पर एक आवासीय कोटी बनी हुई तो दो अन्य इकाइयों ने भी अपनी छतों पर आवस बना दिये हैं। वहीं भटवाडीसैण में जो इकाइयां लगी भी हुई हैं उनके संचालन में भी विभागीय समन्वय नहीं दिख रहा है यही कारण है कि यहां बडे स्तर पर औद्यौगिक इकाइयां संचालित नहीं हो पा रही हैं और जो इकाइयां लग भी रही हैं वह भी समन्वय न होने से बंदी की और बढ़ रही हैं। उधर जिलाधिकारी इसे उद्योग विभाग की बडी लापरवाही बता रहे हैं और सम्बन्धित प्लाटों को खाली कराने के निदेश विभाग को दे दिये हैं साथ ही कहा है कि अगर आवाशीय भवन खाली नहीं होते हैं तो उनके ध्वस्तीकरण की प्रक्रिया अमल में लायी जायेगी।

You May Also Like