पत्रकारों के उत्पीड़न के खिलाफ सूचना विभाग पर धरना, मांग न मानने पर राज्य स्थापना दिवस पर मांगेंगे भीख

देहरादून: पत्रकारों ने उत्पीड़न का आरोप लगाते हुए सूचना विभाग के बाहर सोमवार को प्रदर्शन किया। जिसमें अलग-अलग संगठनों से पत्रकार सम्मिलित हूए। इस दौरान पत्रकारों ने बताया कि,  उनके साथ हो रहे उत्पीडन के खिलाफ सभी प्रिंट और वेब मीडिया के पत्रकार एक साथ, एक मंच पर हैं।

वहीँ पत्रकारों द्वारा निर्णय लिया गया कि हमारी पूर्वत मांगे 6 नवम्बर तक सूचना विभाग द्वारा नही मानी गई, तो 7 नवम्बर से सभी पत्रकार उग्र आंदोलन को बाध्य होंगे। वहीं इन्हीं मांगों के साथ-साथ वेब पोर्टल्स की टेंडर प्रक्रिया के आधार पर जारी क, ख, और ग श्रेणियों के सभी पोर्टलों को राज्य स्थापना दिवस का विज्ञापन जारी किया जाए। यदि 6 नवम्बर तक इन सभी बिंदुंओ पर सूचना विभाग अपनी मुहर नहीं लगाता है तो संयुक्त पत्रकार समूह राज्य स्थापना दिवस के अवसर पर भीख मांगकर अपना आक्रोश व्यक्त करेंगें।
इस दौरान अरुण प्रताप सिंह, ग्रीश पंत, राजेन्द्र भट्ट, राजेश शर्मा, प्रदीप चौधरी, विकास गर्ग,  गिरीश गैरौल, स्वप्निल सिंह, सोमपाल सिंह, जगमोहन सिंह मौर्य, आशीष नेगी, दयाशंकर पांडेय,  अमित सिंह नेगी, बृजेश कुमार, जीसी जोशी, संदीप जंडोरी, हरप्रीत सिंह, हरीश शर्मा, डॉ वीडी शर्मा, अरुण कुमार मोंगा, अनिल शाह, अफरोज खां, अमित अमोली, आलोक शर्मा, मनोज इष्टवाल, संजीव पंत, दीपक धीमान, शिव प्रसाद सेमवाल, मनीष नैथानी, पवन नैथानी, भगवान सिंह चौहान, आशीष भट्ट, मोहम्द आसिफ, हरीश मैखुरी समेत अन्य पत्रकार मौजूद रहे।

You May Also Like