बाजारों व कस्बों के बाद केदारनाथ धाम में चला प्रशासन का पीला पंजा

रुद्रप्रयाग: प्रसिद्ध शिव धाम केदारनाथ में प्रशासन ने अवैध अतिक्रमण हटाने का डण्डा चलाना शुरु कर दिया है। एसडीएम व सीओ की मौजूदगी में केदारनाथ धाम में करीब 70 अवैध अतिक्रमणों को ध्वस्त किया गया। जिससे ब्यापारियों में हडकमप मचा है वहीं प्रशासन का कहना है 2013 की आपदा में जितने प्रतिष्ठान समाप्त हो चुके थे उनके लिए बायोमैटिृक सेन्टर के समीप केदारनाथ हाट बाजार तैयार किया गया है और सारी दुकानें यहीं पर संचालित होंगी।
पर्यटक स्थल चोपता व देवरियाताल के बाद प्रशासन ने अब केदारपुरी को अतिक्रमण मुक्त करने की कवायद शुरु कर दी है। पूर्व में प्रशासन ने मन्दिर के समीप से संगम स्थल तक अतिक्रमण को हटाने के लिए व्यवसाइयों को नोटिस दिये थे, जिस पर व्यापारियों द्वारा जन्माष्टमी तक अतिक्रमण स्वयं हटाने की बात कही थी, मगर अभी तक अतिक्रमण न हटने से प्रशासन ने कार्यवाही करते हुए स्वयं ही अतिक्रमण को हटा दिया है।
पुलिस उपाधीक्षक अभय सिंह का कहना है कि, अभी धाम में कई स्थानों पर अवैध अतिक्रमण है जिसे हटाये जाने की कार्यवाही की जा रही है, साथ ही धीरे-धीरे यह कार्यवाही पूरे क्षेत्र में चलाई जायेगी।
हाईकोर्ट के निर्देशों के बाद से जिला प्रशासन ने बाजारों व कस्बों से अवैध अतिक्रमण को हटाने के लिए शख्त रवैया तो अपनाया है और अब प्रमुख धामों व पर्यटक स्थलों को भी अतिक्रमण मुक्त बनाने के लिए अभियान चला दिया है। प्रशासन ने केदारनाथ में अतिक्रमण हटा कर अपने इरादों को साफ कर दिया है कि अतिक्रमणकारियों को अब कहीं भी छोडा नहीं जायेगा।

You May Also Like